home page

Today Tomato Price: टमाटर से लेकर प्याज की बढ़ती कीमतों ने उड़ाई रातों की नींद, धनिया और अदरक का रेट सुनकर तो आप भी चौंक उठेंगे

आगरा में इन दिनों मौसम की मार से सब्जियों के दामों में बड़ा उछाल आया है।
 | 
हरियाणा में वर्ष 2014 से लेकर 2024 तक सरकार ने बुजुर्गों के कल्याण के लिए कई महत्वपूर्ण कदम उठाए हैं।
   

आगरा में इन दिनों मौसम की मार से सब्जियों के दामों में बड़ा उछाल आया है। बारिश और गर्मी के कारण खासकर आलू, टमाटर, शिमला मिर्च, बैगन जैसी आवश्यक सब्जियों की कीमतें बढ़ने से आम जनता की जेब पर भारी असर पड़ा है। इसके अलावा हरी धनिया जो अक्सर मुफ्त में मिलती थी उसकी कीमत ने तो 200 रुपये प्रति किलो का आंकड़ा छू लिया है।

मानसून की देरी से बढ़ी मुश्किलें

मानसून के उत्तर प्रदेश में पूरी तरह से सक्रिय न होने के कारण सब्जियों की आवक में कमी आई है, जिससे दाम और बढ़ गए हैं। सिकंदरा स्थित नवीन फल एवं सब्जी मंडी के अध्यक्ष, संजीव यादव के अनुसार हर बारिश के मौसम में यही हालत होती है कि सब्जियों की कमी के कारण उनके दाम बढ़ जाते हैं। सब्जी विक्रेता अमन दिवाकर के मुताबिक जो सब्जियां स्थानीय नहीं हैं और दूसरे राज्यों से आती हैं उनके दाम में अधिक बढ़ोतरी हुई है।

बढ़ती कीमतों की जानकारी

पिछले हफ्ते की तुलना में इस हफ्ते सब्जियों की कीमतों में निम्नलिखित बढ़ोतरी दर्ज की गई है

बैगन: 20 रुपये से बढ़कर 30 रुपये
पत्ता गोभी: 30 रुपये से बढ़कर 40 रुपये
बड़ा आलू: 20 रुपये से बढ़कर 30 रुपये
टमाटर: 30 रुपये से बढ़कर 40 रुपये
गोभी: 30 रुपये से बढ़कर 40 रुपये
लौकी: 30 रुपये से बढ़कर 50 रुपये
शिमला मिर्च: 60 रुपये से बढ़कर 80 रुपये
हरी मिर्च: 80 रुपये से बढ़कर 100 रुपये
हरी धनिया: 80 रुपये से बढ़कर 200 रुपये
प्याज: 30 रुपये से बढ़कर 40 रुपये

हमारा Whatsapp ग्रूप जॉइन करें Join Now

उपभोक्ताओं पर पड़ रहा असर

इस तरह की मूल्य बढ़ोतरी से न केवल आगरा बल्कि पूरे क्षेत्र के उपभोक्ताओं की जेब पर भारी बोझ पड़ रहा है। जनता के रसोईघर का बजट बिगड़ गया है और उन्हें अपने दैनिक खर्चों में कटौती करनी पड़ रही है। उपभोक्ताओं की यह चिंता है कि अगर बारिश और बाढ़ की स्थिति ऐसी ही रही तो सब्जियों की कीमतें और बढ़ सकती हैं।