home page

सोनीपत, पानीपत समेत इन 5 जिलों से होकर गुजरेगी नई रेल्वे लाइन, जमीन के रेटों में आया तगड़ा उछाल

केंद्र सरकार ने हरियाणा के औद्योगिक विकास को गति देने के लिए एक नई रेलवे लाइन बिछाने का काम तेजी से आरंभ कर दिया है। मानेसर, पलवल और खरखौदा जैसे प्रमुख औद्योगिक क्षेत्रों के बीच यात्री और माल ढुलाई सेवाओं को आसान बनाने के लिए यह कदम उठाया गया है।
 | 
new-railway-line
   

केंद्र सरकार ने हरियाणा के औद्योगिक विकास को गति देने के लिए एक नई रेलवे लाइन बिछाने का काम तेजी से आरंभ कर दिया है। मानेसर, पलवल और खरखौदा जैसे प्रमुख औद्योगिक क्षेत्रों के बीच यात्री और माल ढुलाई सेवाओं को आसान बनाने के लिए यह कदम उठाया गया है। इस परियोजना के माध्यम से सरकार का उद्देश्य इन क्षेत्रों की आर्थिक संभावनाओं को बढ़ाना और रेलवे नेटवर्क के जरिये उन्हें अधिक संगठित करना है।

निर्माण कार्यों की तेजी

हरियाणा ऑर्बिटल रेल कॉरिडोर का निर्माण कार्य चालू हो चुका है और यह 126 किलोमीटर लंबा होगा। इस प्रोजेक्ट पर कुल 5700 करोड़ रुपये का खर्च आने की संभावना है। यह कॉरिडोर कुंडली-मानेसर-पलवल एक्सप्रेस-वे के समानांतर बिछाई जा रही है जिससे इस क्षेत्र के पाँच मुख्य जिलों—पलवल, गुरुग्राम, नूंह, झज्जर और सोनीपत को सीधा लाभ मिलेगा।

मानेसर और आसपास के शहरों का विकास

इस रेल कॉरिडोर के निर्माण से मानेसर समेत आसपास के शहरों के विकास की नई संभावनाएं खुलेंगी। यह कॉरिडोर न केवल यात्री सुविधाओं में सुधार लाएगा बल्कि माल ढुलाई की प्रक्रिया को भी अधिक आसान बनाएगा जिससे क्षेत्रीय व्यापार को भी बल मिलेगा।

हमारा Whatsapp ग्रूप जॉइन करें Join Now

प्रोजेक्ट के तकनीकी पहलुए

इस कॉरिडोर के निर्माण में 4.88 किलोमीटर लंबी सुरंग का निर्माण भी शामिल है जो डबल-डेकर कंटेनर्स की ढुलाई को संभव बनाएगी। इस सुरंग की ऊंचाई 11 मीटर होगी जिससे बड़े आकार के कंटेनर भी आसानी से गुजर सकेंगे।