home page

9वीं पास लड़के ने जुगाड़ लगाकर बना दी इलेक्ट्रिक बाइक, एकबार चार्ज करने पर देती है अच्छी माइलेज

अपने देश में टैलेंट लोगों की कमी नहीं है। ये लोग अपने हुनर के लिए दुनियाभर में पहचाने जाते है। अक्सर देखा जाता है कि लोग बेकार का सामान कबाड़ में देते है। वैसे तो यह बेकार सामान किसी काम में नहीं आता है।
 | 
Electric Bike Jugaad
   

अपने देश में टैलेंट लोगों की कमी नहीं है। ये लोग अपने हुनर के लिए दुनियाभर में पहचाने जाते है। अक्सर देखा जाता है कि लोग बेकार का सामान कबाड़ में देते है। वैसे तो यह बेकार सामान किसी काम में नहीं आता है। लेकिन कुछ लोग इस कबाड़ से जुगाड़ कर नई चीजें बना देते है।

इन दिनों कर्नाटक के एक बच्चा सोशल मीडिया छाया हुआ है। 10वीं में पढ़ने वाले इस बच्चे में कबाड़ से एक इलेक्ट्रिक बाइक तैयार की है। लड़के का कहना है कि आज के समय में पेट्रोल और डिजल के दाम आसमान में छाए हुए। ऐसे में यह इलेक्ट्रिक बाइक बहुत ही किफायती साबित होगी।

कबाड़ से बनाई बाइक

एक रिपोर्ट के अनुसार, कर्नाटक के रहने वाले प्रथमेश सुतार को लॉकडाउन के दौरान यह आइडिया आया। रोजाना पैट्रोल और डिजल के दामों बढ़ोतरी हो रही है। इससे आम लोग काफी परेशान है।

हमारा Whatsapp ग्रूप जॉइन करें Join Now

अचानक उनको ख्याल आया कि क्यों ना कबाड़ से एक ऐसी बाइक तैयार की जाए जो बिना पेट्रोल के चले। इसके बाद उसने इलेक्ट्रिक बाइक पर काम करना शुरू किया। दिलचस्प बात ये है कि इस बाइक को उन्होंने कबाड़ से तैयार किया है।

इतने किलोमीटर तक चला सकते है

इस बाइक को लेकर प्रथमेश सुतार ने बताया कि इसको एक बार बैटरी चार्ज करने पर 40 किलोमीटर तक चला सकते है। उनके पिता प्रकाश पेशे से इलेक्ट्रीशियन हैं। अपने बेटे के टैलेंट को देखकर वे भी बहुत खुश हुए। इस बाइक को तैयार करने के लिए उन्होंने अपने पिता से ही ये सारा सामान लिया।

बच्चे ने बेकार सामान से ही एक इलेक्ट्रिक बाइक तैयार की। उन्होंने लीड एसिड बैटरी खरीदी। जिससे इसे चार्जेबल मोटर बनाया जा सके। आपको यह जानकर हैरानी होगी कि इस बाइक में रिवर्स गियर भी है।

प्रकाश को अपने बेटे की कलाकारी पर बहुत गर्व है। उन्होंने कहा कि वे अपने बच्चे में हूनर से बहुत खुश है। सरकार को ऐसे लोगों को आगे बढ़ने के लिए प्रोत्साहन करना चाहिए। ऐसे कई बच्चे है जो अपने देश के लिए कुछ नया कर सकते है।