home page

हज़ारों सालो से नही बुझी इस पहाड़ में जल रही आग, आँधी तूफ़ान भी है बेअसर जाने क्या है असली कारण

आज एक ऐसा  ही उदाहरण हम आपके साथ शेयर करने वाले है जो अजरबैजान का है, जहां एक पहाड़ पर सालों से आग जल रही है। आग कितनी पुरानी है यह कोई नहीं जानता बस लोग केवल अनुमान लगा सकते हैं। पहाड़ों में जल रही इस आग के पीछे भी एक ख़ास वजह छिपी हुई है. आज की इस पोस्ट में आपको कुछ ऐसी जानकारी बताने वाले है जिसके बारे में जानकर शायद ही आप यक़ीन कर पाएँ.
 | 
mountain on fire

दुनिया में कुछ ऐसी जगहें हैं जो बहुत ही अजीबोगरीब हैं। लंबे समय तक, लोगों को उनके बारे में पूरी जानकारी नहीं थी, लेकिन जैसे-जैसे समय बीतता गया,  वैसे लोगों की खोजबीन के दौरान ऐसे जगहें मिली जो चमत्कार की तरह है। हालांकि ये जगहें आज भी अजीबोगरीब हैं। आज एक ऐसा  ही उदाहरण हम आपके साथ शेयर करने वाले है जो अजरबैजान का है, जहां एक पहाड़ पर सालों से आग जल रही है। आग कितनी पुरानी है यह कोई नहीं जानता बस लोग केवल अनुमान लगा सकते हैं। पहाड़ों में जल रही इस आग के पीछे भी एक ख़ास वजह छिपी हुई है. आज की इस पोस्ट में आपको कुछ ऐसी जानकारी बताने वाले है जिसके बारे में जानकर शायद ही आप यक़ीन कर पाएँ.

पिछले काफ़ी सालों से जल रही है आग

अजरबैजान को 'आग की भूमि' के रूप में जाना जाता है क्योंकि यहां कई ऐसी जगहें हैं जहां आग अपने आप लग जाती है। सबसे खास यानर डाग है, जिसका मतलब यहाँ की भाषा में जलता हुआ पहाड़ होता है. जो राजधानी शहर बाकू के पास अबशेरोन प्रायद्वीप पर स्थित है। एलिवा राहिला नाम के एक टूर गाइड के मुताबिक यह आग 4,000 साल से जल रही है।

अपने आप जल रहे पहाड़ का विडियो

ब्लॉगर की बातों को ग़लत बता रहे है लोग
@Aureliestory नाम के एक ट्रैवल ब्लॉगर ने हाल ही में एक अजीबोगरीब पहाड़ के बारे में एक वीडियो पोस्ट किया है जिसे एक भारतीय मीम पेज ने शेयर किया है। वीडियो में दिखाया गया है कि कैसे पहाड़ के निचले हिस्से में लगातार आग जल रही है. हालांकि कुछ लोग कह रहे हैं कि ब्लॉगर इस दावे को झूठा भी बता रहे है की पिछले 4 हज़ार सालों से लगातार आग जलने वाली बात ग़लत है. इस जानकारी को लेकर हम किसी भी तरह की पुष्टि नही करते है.
प्राकृतिक गैस के रिसाव के कारण जलती है आग
आजरबैजान में एक ऐसी आग जल रही है जो सदियों से जल रही है। आग जमीन से लीक होने वाली प्राकृतिक गैस और हवा के संपर्क में आने के कारण होती है। एक्सप्लोरर मार्को पोलो ने 13 वीं शताब्दी में अज़रबैजान का दौरा करते समय आग का उल्लेख किया था। एक समय में, अजरबैजान में इनमें से कई आग जल रही थी, लेकिन समय के साथ प्राकृतिक गैस के भंडार में कमी के कारण वे कम हो गए हैं। यनार डाग उन कुछ स्थानों में से एक है जहां अभी भी प्राकृतिक गैस का रिसाव हो रहा है।