home page

कितने दिन के बाद बोतलबंद पानी हो जाता है खराब, जाने बोतल पर कहाँ लिखी होती है एक्सपायरी डेट

अक्सर हम सुनते हैं कि पानी कभी खराब नहीं होता फिर भी बोतलबंद पानी पर एक्सपायरी डेट क्यों लिखी होती है? यह प्रश्न हर किसी के मन में उठता है। आइए इस रहस्य को सुलझाते हैं और जानते हैं कि वास्तव में पानी खराब क्यों और कैसे होता है।

 | 
water-bottled-expired
   

अक्सर हम सुनते हैं कि पानी कभी खराब नहीं होता, फिर भी बोतलबंद पानी पर एक्सपायरी डेट क्यों लिखी होती है? यह प्रश्न हर किसी के मन में उठता है। आइए इस रहस्य को सुलझाते हैं और जानते हैं कि वास्तव में पानी खराब क्यों और कैसे होता है।

पानी का एक्सपायरी मिथ

बोतलबंद पानी पर एक्सपायरी डेट वास्तव में पानी के लिए नहीं बल्कि बोतल की सामग्री के लिए होती है। वैज्ञानिकों के अनुसार, पानी में धीरे-धीरे बोतल का प्लास्टिक घुलने लगता है, जिससे 2 साल बाद यह पीने लायक नहीं रहता। इसलिए बोतलबंद पानी की एक्सपायरी डेट वास्तव में बोतल की सुरक्षा अवधि को दर्शाती है।

नल और नदी का पानी

नल और नदियों का पानी, जो कि एक रासायनिक यौगिक है, अपने आप में खराब नहीं होता। इसके अनुसार, पानी में मौजूद हाइड्रोजन और ऑक्सीजन के अणु समय के साथ नहीं बदलते। हालांकि, पानी में मौजूद अशुद्धियाँ जैसे बैक्टीरिया, वायरस, और रसायन खराब हो सकते हैं, पर पानी में जीवाणुरोधी गुण इनके विकास को रोकते हैं।

रिसर्च और रख-रखाव

वर्ल्ड स्कूल ऑफ पब्लिक रिसर्च की रिपोर्ट के अनुसार नल का पानी 6 महीने तक सुरक्षित रखा जा सकता है, बशर्ते इसे ठंडी, सूखी और अंधेरी जगह पर रखा जाए। पानी को अशुद्धियों से मुक्त रखने के लिए, इसे सीधे नल से भरने और हवा से बचाने के लिए ढक्कन लगाकर रखने की सलाह दी जाती है।

पानी की सुरक्षा

अंत में पानी की सुरक्षा और शुद्धता हम सभी की जिम्मेदारी है। पानी को संरक्षित करने और इसे शुद्ध रखने के लिए सही तरीके और सावधानियों का पालन करना चाहिए। इस प्रकार, हम न केवल स्वयं की बल्कि अपने परिवार और समुदाय की स्वास्थ्य सुरक्षा सुनिश्चित कर सकते हैं।