home page

HDFC Bank के खाताधारको के लिए बुरी खबर, रूल्स उल्लंघन करने के कारण RBI ने लगाया मोटा जुर्माना

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने 17 मार्च को कुछ नियमों का पालन नहीं करने के कारण आवास विकास वित्त निगम लिमिटेड (HDFC) पर 5 लाख रुपये का जुर्माना लगाया है। आरबीआई के अनुसार, नेशनल हाउसिंग बैंक के एक निरीक्षण से पता चला है कि कंपनी 2019-20 की अवधि के दौरान कुछ ग्राहकों की जमा राशि को उनके नामित बैंक खातों में स्थानांतरित करने में सफल नहीं रही।
 | 
HDFC BANK

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने 17 मार्च को कुछ नियमों का पालन नहीं करने के कारण आवास विकास वित्त निगम लिमिटेड (HDFC) पर 5 लाख रुपये का जुर्माना लगाया है। आरबीआई के अनुसार, नेशनल हाउसिंग बैंक के एक निरीक्षण से पता चला है कि कंपनी 2019-20 की अवधि के दौरान कुछ ग्राहकों की जमा राशि को उनके नामित बैंक खातों में स्थानांतरित करने में सफल नहीं रही।

आरबीआई द्वारा नोटिस

आरबीआई के निर्देशों का पालन नहीं करने पर कंपनी को आरबीआई द्वारा नोटिस जारी किया गया है। इस नोटिस में आरबीआई ने कंपनी से स्पष्टीकरण मांगा है कि बैंक के निर्देशों का पालन करने में विफल रहने पर उस व्यक्ति पर जुर्माना क्यों न लगाया जाए।

आरबीआई ने कहा कि उनके नोटिस पर एचडीएफसी की प्रतिक्रिया देखने के बाद, उन्होंने पाया कि कंपनी पर उनके निर्देशों का पालन नहीं करने के आरोप सही थे। इस वजह से ही उन्होंने एचडीएफसी पर जुर्माना लगाया गया था।

नियमों का पालन न करने पर जुर्माना 

आरबीआई ने GH Holdings Private Limited , मुंबई नाम की कंपनी पर नियमों का पालन करने में विफल रहने पर 11.25 लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया है। कंपनी के एक निरीक्षण से पता चला कि कंपनी अपने लाभ का 20% आरक्षित फंड में आवश्यकतानुसार स्थानांतरित करने में विफल रही है, जैसा कि कानून द्वारा आवश्यक होता है। कानून के अनुसार कंपनी को हर साल अपने लाभ का 20% आरक्षित फंड में जमा करना बहुत जरूरी है। 

कंपनी ने नियमों का उल्लंघन किया

कंपनी सीआईसी की एक सदस्य है और यह कंपनी सीआईसी को क्रेडिट जानकारी देने में नाकामयाब रही थी। इसी नतीजे पर कंपनी को नोटिस जारी किया गया था। आरबीआई ने कहा कि कंपनी के जवाब को देखने के बाद आरबीआई इस नतीजे पर पहुंचा है कि कंपनी ने नियमों का उल्लंघन किया है और इसी वजह से उस पर जुर्माना लगाया गया है। इसलिए कंपनी के लिए जरूरी है कि वे अपने क्रेडिट की पूरी जानकारी सीआईसी को समय पर देते रहे।