home page

Bharat Chawal: केवल 29 रुपए किलो के हिसाब से सरकार देगी भारत चावल, इस जगह से बिना राशन कार्ड भी ले पाएंगे चावल

भारत सरकार (Government of India) ने आम जनता की जेब पर पड़ने वाले बोझ (Financial Burden) को कम करने के लिए एक नई पहल की शुरुआत की है। सस्ती दाल (Affordable Pulses) और आटे (Flour) के बाद...
 | 
Bharat Rice

भारत सरकार (Government of India) ने आम जनता की जेब पर पड़ने वाले बोझ (Financial Burden) को कम करने के लिए एक नई पहल की शुरुआत की है। सस्ती दाल (Affordable Pulses) और आटे (Flour) के बाद, अब 'भारत चावल' (Bharat Rice) को भी 6 फरवरी से सबके लिए उपलब्ध कराया जा रहा है।

यह पहल खासतौर पर उन लोगों के लिए राहत भरी है जिन्होंने हाल ही में चावल (Rice), दाल और आटे की कीमतों में वृद्धि (Price Hike) का सामना किया है। 'भारत चावल' की पहल से सरकार ने आम जनता के लिए आर्थिक राहत (Economic Relief) प्रदान करने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम उठाया है।

इससे न केवल चावल की कीमतों में वृद्धि का सामना कर रहे लोगों को राहत मिलेगी बल्कि यह खाद्य सुरक्षा (Food Security) की दिशा में भी एक सकारात्मक पहल है। आम जनता के लिए 'भारत चावल' की उपलब्धता और सस्ती कीमतें निश्चित रूप से उनकी जेब पर पड़ने वाले आर्थिक बोझ को कम करेंगी और उन्हें आर्थिक रूप से और अधिक सशक्त (Empower) बनाएंगी।

'भारत चावल' कहां से खरीदें?

दिल्ली-एनसीआर (Delhi-NCR) में 100 मोबाइल वैन (Mobile Vans) के माध्यम से 'भारत चावल' की बिक्री शुरू होगी। इस खास पहल की विशेषता यह है कि ग्राहक इसे बिना किसी राशन कार्ड (Ration Card) या पहचान पत्र (ID Proof) के भी खरीद सकेंगे।

केंद्रीय उपभोक्ता मामलों के मंत्री पीयूष गोयल (Union Minister Piyush Goyal) द्वारा इसकी प्रतीकात्मक विक्री (Symbolic Sale) की शुरुआत की जाएगी।

चावल की कीमतें और उपलब्धता

'भारत चावल' 5 किलो (5 KG) और 10 किलो (10 KG) की पैकिंग में मिलेगा, जिसकी अधिकतम खुदरा कीमत (Maximum Retail Price - MRP) 29 रुपये प्रति किलो होगी। यह सरकारी एजेंसियों (Government Agencies) को 18.59 रुपये प्रति किलो की दर से मिलेगा।

लेकिन ग्राहकों को इसके लिए 29 रुपये चुकाने होंगे। यह बाजार में मिलने वाले समान ग्रेड के चावल की तुलना में काफी सस्ता (Affordable) है, जो कम से कम 45 रुपये किलो में मिलता है।