home page

Jio, एयरटेल और Vi सिम इस्तेमाल करने वालों के लिए आई बड़ी खबर, 15 अप्रैल के बाद कंपनियों को इस सर्विस को बंद करने के दिए आदेश

आधुनिक समय में स्मार्टफोन का उपयोग लगभग हर कार्य के लिए किया जा रहा है। इसी क्रम में एक महत्वपूर्ण सूचना स्मार्टफोन यूजर्स के लिए सामने आई है। कॉल फॉरवर्डिंग जो कि एक आम फीचर है उसका तरीका अब बदलने जा रहा है।
 | 
dot-has-asked-jio-airtel-and-vi-to-stop-using
   

आधुनिक समय में स्मार्टफोन का उपयोग लगभग हर कार्य के लिए किया जा रहा है। इसी क्रम में एक महत्वपूर्ण सूचना स्मार्टफोन यूजर्स के लिए सामने आई है। कॉल फॉरवर्डिंग जो कि एक आम फीचर है उसका तरीका अब बदलने जा रहा है।

DoT का नया आदेश

टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट के अनुसार भारतीय दूरसंचार विभाग (DoT) ने देश की प्रमुख टेलिकॉम कंपनियों जैसे कि रिलायंस जियो, एयरटेल और वोडाफोन-आइडिया (Vi) को निर्देश दिया है कि वे कॉल फॉरवर्डिंग के लिए USSD कोड्स का उपयोग बंद करें। यह नियम 15 अप्रैल 2024 से लागू होगा।

USSD कोड्स का महत्व और चिंताएं

USSD (Unstructured Supplementary Service Data) कोड्स जो कि शॉर्टकोड होते हैं यूजर्स को विभिन्न सेवाओं को ऐक्टिवेट या डीऐक्टिवेट करने की सुविधा प्रदान करते हैं। ये कोड्स फोन बैलेंस आईएमईआई नंबर जैसी जानकारी प्रदान करते हैं। हालांकि DoT का मानना है कि इन कोड्स के जरिए साइबर अपराधी मोबाइल फोन से जुड़े अपराध कर सकते हैं।

28 मार्च को जारी हुआ निर्देश

DoT ने 28 मार्च को एक ऑर्डर जारी करते हुए बताया कि USSD आधारित कॉल फॉरवर्डिंग सेवा का गलत इस्तेमाल हो रहा है। इसी कारण से 15 अप्रैल 2024 से इस सेवा को अगले आदेश तक के लिए बंद करने का फैसला किया गया है।

यूजर्स और टेलिकॉम कंपनियों की भूमिका

इस नए निर्देश के बाद जिन यूजर्स ने पहले से कॉल फॉरवर्डिंग की सेवा को USSD कोड्स के जरिए ऐक्टिवेट कर रखा है उन्हें अब दूसरे तरीकों से इस सेवा को पुनः सक्रिय करने के लिए कहा जाएगा। इससे यह सुनिश्चित होगा कि बिना यूजर की मर्जी के कोई सेवा सक्रिय न हो। टेलिकॉम कंपनियों को इस परिवर्तन को लागू करने और यूजर्स को नए तरीके से कॉल फॉरवर्डिंग की सुविधा प्रदान करने की जिम्मेदारी सौंपी गई है।