home page

UP में बिजली चोरी करने वालों के लिए आई बड़ी खबर, बिजली चोरी रोकने के लिए विभाग ने लिया ऐक्शन

उत्तरप्रदेश के रामनगर जिले में बिजली चोरी की समस्या को जड़ से मिटाने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम उठाया जा रहा है। जिले के हर घर में स्मार्ट मीटर लगाने की प्रक्रिया शुरू हो गई है।
 | 
pre-paid-meters-will-be-installed
   

उत्तरप्रदेश के रामनगर जिले में बिजली चोरी की समस्या को जड़ से मिटाने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम उठाया जा रहा है। जिले के हर घर में स्मार्ट मीटर लगाने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। इस पहल के माध्यम से बिजली की खपत की निगरानी करने और चोरी को रोकने की योजना है।

स्मार्ट मीटर लगाने के साथ ही एक नियंत्रण कक्ष की स्थापना की जा रही है। जिससे सभी कनेक्टिविटी पर नज़र रखी जा सकेगी। रामनगर जिले में स्मार्ट मीटर लगाने की पहल न सिर्फ बिजली चोरी को रोकेगी, बल्कि बिजली की खपत पर भी एक स्वस्थ नियंत्रण स्थापित करेगी।

इस कदम से जिले में बिजली वितरण प्रणाली में एक महत्वपूर्ण सुधार की उम्मीद है, जिससे सभी उपभोक्ता और विभाग दोनों को लाभ होगा।

रामपुर जिले में लाइन लॉस में कमी

इस पहल की आवश्यकता इसलिए महसूस की गई क्योंकि रामपुर जिले में बिजली की चोरी और ओवरलोडिंग की समस्याएँ बहुत गंभीर थीं। पिछले वर्ष की तुलना में इस वर्ष लाइनलॉस में 21% की कमी आई है, जो कि एक सकारात्मक संकेत है। हालांकि बिजली चोरी की समस्या अभी भी बनी हुई है, जिसे स्मार्ट मीटर के माध्यम से समाप्त करने की उम्मीद है।

स्मार्ट मीटर लगाने की योजना

जिले के अधीक्षण अभियंता विनोद कुमार आर्य ने बताया कि साढ़े तीन लाख से अधिक उपभोक्ताओं के घरों में स्मार्ट मीटर लगाए जाएंगे। इस कार्य के लिए गुड़गांव की एक कंपनी इंटेली से बातचीत की गई है। स्मार्ट मीटर लगाने की प्रक्रिया अगले महीने से शुरू होने जा रही है, जिससे ग्राहक को उपभोग के अनुसार बिल का भुगतान करना होगा।

स्मार्ट मीटर से लाभ

स्मार्ट मीटर से न केवल विभाग को बल्कि उपभोक्ताओं को भी लाभ होगा। इससे बिल प्राप्त करने की प्रक्रिया आसान होगी और बिल न देने पर मीटर बंद करने की सुविधा भी होगी। इसके अलावा एक नियंत्रण कक्ष की स्थापना से विभाग उपभोक्ताओं की बिजली खपत पर नज़र रख सकेगा।