home page

बिहार में स्मार्ट मीटर लगाते ही लाखों में आया बिजली का बिल, उपभोक्ता की उड़ी रातों की नींद

कुढ़नी प्रखंड के झिटकी सलेमपुर गांव में विमला देवी के घर का बिजली बिल देखते ही उनके होश उड़ गए। जहां एक ओर आमतौर पर लोग हजारों में बिजली बिल की राशि का भुगतान करते हैं
 | 
muzaffarpur-bihar-bijli-bill-consumers-in-bihar
   

कुढ़नी प्रखंड के झिटकी सलेमपुर गांव में विमला देवी के घर का बिजली बिल देखते ही उनके होश उड़ गए। जहां एक ओर आमतौर पर लोग हजारों में बिजली बिल की राशि का भुगतान करते हैं वहीं उन्हें 2 लाख 75 हजार 196 रुपये 67 पैसे का बिल थमा दिया गया। यह घटना उनके लिए न सिर्फ चिंता का विषय बनी, बल्कि एक बड़े वित्तीय संकट की आशंका भी जताई गई।

तकनीकी खामी या मानवीय भूल?

इस पूरे प्रकरण की जड़ में विमला देवी के पुराने मीटर की अनियमित रीडिंग और अचानक स्मार्ट मीटर में उन्नयन किया जाना था। पिछले वर्ष मार्च से लेकर इस वर्ष फरवरी तक मीटर रीडिंग में लगातार असमानता देखी गई, जिसके फलस्वरूप 76391 यूनिट की भारी-भरकम खपत दिखाई गई। विमला देवी के घर में महज दो से तीन बल्ब और एक पंखा होने की बात को देखते हुए यह बिल न सिर्फ अविश्वसनीय लगा, बल्कि असंभव भी प्रतीत होता है।

विभागीय कारवाई और सुधार के उपाय

इस मामले पर बिजली विभाग के अधिकारी साजिद हुसैन का कहना है कि उनके पास अभी तक यह शिकायत नहीं पहुंची है। हालांकि उन्होंने आश्वासन दिया है कि शुक्रवार को इस मामले की जांच करके बिल में सुधार कर दिया जाएगा। उपभोक्ताओं की इस तरह की शिकायतों का समाधान विभाग की प्राथमिकता में है।

होली के बाद स्मार्ट मीटर में आई तकनीकी समस्या

होली के त्यौहार के बाद से स्मार्ट मीटर रिचार्ज में आ रही समस्या ने उपभोक्ताओं की परेशानी को और भी बढ़ा दिया है। विशेषकर गुरुवार को तो कई उपभोक्ताओं को घंटों तक बिजली के बिना रहना पड़ा जिससे उन्हें कई प्रकार की समस्याओं का सामना करना पड़ा । विभागीय सर्वर में आई इस अचानक समस्या के कारण उपभोक्ताओं को रिचार्ज के बावजूद बिजली सप्लाई में देरी हो रही है।