home page

Chanakya Niti: जिंदगी में कामयाब होने के लिए जान ले ये 5 जरूरी बातें, समस्याएं दूर खड़ी हिलाएगी हाथ

आचार्य चाणक्य ने अपने नीति ग्रंथ के चौथे अध्याय के 18वें श्लोक में सलाह दी है कि सफल होने के लिए पांच महत्वपूर्ण प्रश्नों के उत्तर जानना चाहिए। इन उत्तरों के आलोक में बुद्धिमानी का काम करने से परेशानी से बचने और वित्तीय सफलता हासिल करने में मदद मिल सकती है।
 | 
Chanakya Niti

आचार्य चाणक्य ने अपने नीति ग्रंथ के चौथे अध्याय के 18वें श्लोक में सलाह दी है कि सफल होने के लिए पांच महत्वपूर्ण प्रश्नों के उत्तर जानना चाहिए। इन उत्तरों के आलोक में बुद्धिमानी का काम करने से परेशानी से बचने और वित्तीय सफलता हासिल करने में मदद मिल सकती है।

क: काल: कानि मित्राणि को देश: कौ व्ययागमौ।
कस्याऽडं का च मे शक्तिरिति चिन्त्यं मुहुर्मुंहु:।।

एक बुद्धिमान व्यक्ति को हमेशा इस बात पर विचार करना चाहिए कि वे अपने समय का उपयोग कैसे कर रहे हैं, उनके कितने दोस्त हैं और वे कहाँ रहते हैं। उन्हें अपनी कमाई और खर्च, अपनी शक्ति और क्षमता पर भी विचार करना चाहिए।

सफल होने के लिए ये 5 चीजें जाननी हैं जरूरी

चाणक्य कहते हैं कि एक बुद्धिमान व्यक्ति दुनिया की वर्तमान स्थिति को समझता है और भविष्य में इसके बदलने की संभावना है। यह ज्ञान उन लोगों के लिए आवश्यक है जो वाणिज्य में संलग्न हैं, क्योंकि यह उन्हें वर्तमान परिस्थितियों के आधार पर बुद्धिमानी से निर्णय लेने की अनुमति देता है।

मित्रों के बारे में

एक बुद्धिमान व्यक्ति जानता है कि किस पर भरोसा करना है और किससे दूर रहना है। वह उन लोगों को भी जानता है जो दोस्त बनकर उसे धोखा देने की कोशिश करते हैं। यदि वह शत्रुओं में से मित्रों को नहीं पहचान पाता है, तो अंततः उसका लाभ उठाया जाएगा।

देश कैसा है

यह देश कैसा है, उदा. वह स्थान जहाँ हम काम करते हैं? यहां सफल होने के लिए यह जानना जरूरी है। यदि आप इसे ध्यान में रखते हैं, तो आप बिना रुके अपना रास्ता नेविगेट करने में सक्षम होंगे।

आमदनी और खर्च की जानकारी

अपनी आय और व्यय के बारे में सटीक जानकारी होना महत्वपूर्ण है ताकि आप अपना पैसा खर्च करने के तरीके के बारे में विवेकपूर्ण निर्णय ले सकें। यदि आपके पास यह जानकारी नहीं है, तो हो सकता है कि आप अपनी सामर्थ्य से अधिक खर्च कर रहे हों, और हो सकता है कि आपने अधिक बचत न की हो।

मालूम होनी चाहिए अपनी क्षमता

अंततः, सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि आप अपनी क्षमता को जानें और उसे प्राप्त करने के लिए जितना संभव हो उतना ही उपयोग करें। जितना आप वास्तविक रूप से प्रबंधित कर सकते हैं, उससे अधिक लेने से निश्चित रूप से असफलता मिलेगी।