home page

एलपीजी सिलेंडर से लेकर क्रेडिट कार्ड की बिल पेमेंट से जुड़े नियमों में हुआ बदलाव, देशभर में आज से लागू हुए ये 6 बड़े बदलाव

मई महीने की शुरुआत के साथ ही भारत में कई नियमों में बदलाव हो गए हैं जो कि सीधे तौर पर आम जनता की जेब पर असर डालने वाले हैं।
 | 
rule-change-from-1st-may-2024
   
WhatsApp Group Join Now

मई महीने की शुरुआत के साथ ही भारत में कई नियमों में बदलाव हो गए हैं जो कि सीधे तौर पर आम जनता की जेब पर असर डालने वाले हैं। इनमें एलपीजी सिलेंडर की कीमतों से लेकर क्रेडिट कार्ड के उपयोग पर लगने वाले चार्ज तक शामिल हैं। आइए जानते हैं इन प्रमुख बदलावों के बारे में विस्तार से।

LPG सिलेंडर की कीमतों में कटौती

1 मई 2024 से एलपीजी सिलेंडर की कीमतों में महत्वपूर्ण कमी की गई है। ऑयल मार्केटिंग कंपनियों ने 19 किलोग्राम वाले कमर्शियल गैस सिलेंडर के दामों में 19-20 रुपये की कमी की है। इससे व्यावसायिक उपयोगकर्ताओं को बड़ी राहत मिलेगी और मार्केट में इसका सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा।

बैंक चार्जेज में बढ़ोतरी 

ICICI बैंक ने अपने सेविंग अकाउंट्स पर लगने वाले चार्जेज में बदलाव किया है। डेबिट कार्ड पर लगने वाले सालाना शुल्क को 200 रुपये तक बढ़ा दिया गया है। यह बदलाव बैंक ग्राहकों के लिए अतिरिक्त वित्तीय बोझ साबित हो सकता है।

Yes Bank में बदलाव

Yes Bank ने भी सेविंग अकाउंट्स पर लगने वाले मिनिमम बैलेंस और उस पर लगने वाले चार्जेज में बदलाव किया है। नए नियमों के अनुसार विभिन्न तरह के अकाउंट्स पर अलग-अलग मिनिमम बैलेंस और चार्जेज तय किए गए हैं। इससे बैंक के ग्राहकों पर वित्तीय प्रभाव पड़ेगा।

क्रेडिट कार्ड से बिल पेमेंट महंगा

यदि आप क्रेडिट कार्ड का उपयोग करके यूटिलिटी बिल पेमेंट करते हैं तो नए नियमों के अनुसार अब आपको इस पर अतिरिक्त चार्ज देना पड़ सकता है। यस बैंक और आईडीएफसी फर्स्ट बैंक ने 1 मई से इस पर नए चार्ज लागू किए हैं जो विशेष रूप से बड़ी राशि के बिलों पर लागू होंगे।

यह भी पढ़ें; खाया तो बहुत बार होगा पर अब देख लीजिए की गन्ने के जूस से कैसे बनता है गुड, बनाने का तरीका बहुत कम लोगों को होता है पता

म्यूचुअल फंड KYC नियम में बदलाव

म्यूचुअल फंड निवेशकों के लिए KYC नियमों में बदलाव किए गए हैं। नए नियम के अनुसार निवेशकों को अपने आवेदनों में पैन कार्ड पर दिए गए नाम के अनुरूप जानकारी देनी होगी। यह नियम पहली बार म्यूचुअल फंड में निवेश करने वालों के लिए विशेष रूप से महत्वपूर्ण है।