home page

दिल्ली मेट्रो के इस कॉरिडोर पर ट्रेनों के रंग में हुआ बदलाव, जाने DMRC को क्यों लेना पड़ा ये डिसीजन

दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (DMRC) ने एक और निर्णय लिया है जो यात्रियों को मेट्रो में सफर करने की सुविधा देता है। DMRC ने Delhi Aerocity-Tughhlakabad Corridor, जो चौथी चरण में निर्माणाधीन है...
 | 
dmrc-changed-color-of-delhi-aerocity

दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (DMRC) ने एक और निर्णय लिया है जो यात्रियों को मेट्रो में सफर करने की सुविधा देता है। DMRC ने Delhi Aerocity-Tughhlakabad Corridor, जो चौथी चरण में निर्माणाधीन है, का रंग सिल्वर से गोल्डन करने का निर्णय लिया है।

अधिकारियों ने कहा कि विजिबिलिटी को बेहतर करने और यात्रियों को कलर पहचानने में आसानी होने के लिए ऐसा निर्णय लिया गया है। ध्यान देने योग्य है कि दिल्ली मेट्रो ने अपने सभी आपरेशनल कॉरिडरों को सरल रंगों में रंगा हुआ है ताकि यात्रियों को आसानी से मेट्रो को पहचानने में आसानी हो।

DMRC के एक अधिकारी ने बताया कि गोल्डन रंग को कॉरिडोर में रखने का निर्णय लिया गया है क्योंकि सिल्वर रंग की बजाय गोल्डन रंग को मेट्रो पर अधिक साफ और आसानी से देखा जा सकता है।

कलर से रूट की पहचान

उनका कहना था कि मेट्रो ट्रेन की स्टेनलेस स्टील बॉडी में सिल्वर कलर आसानी से पाया जा सकता है। ऐसे में यात्रियों को कलर का पता लगाने में परेशानी हो सकती है। यात्रियों को दूर से ही पहचानना आसान होने के लिए गोल्डन कलर का चयन किया गया है।

ध्यान दें कि मेट्रो ट्रेन की बॉडी पर दिखने वाले विशिष्ट कॉरिडोर को यह कलर स्ट्रीप प्रदर्शित करता है। उदाहरण के लिए, एक ट्रेन जो ब्लू लाइन पर चल रही है, द्वारका सेक्टर-21 से नोएडा या वैशाली के रूट पर चल रही है। इस मेट्रो ट्रेन की खिड़की के शीशे पर नीले रंग की एक स्ट्रिप दिखाई देगी।

मार्च 2026 तक शुरू होगा

Delhi Aerocity-Tughhlakabad Corridor, जो 23.62 किलोमीटर लंबी है, पर कुल 15 स्टेशन होंगे। यह कॉरिडोर एयरपोर्ट एक्सप्रेस लाइन को कश्मीरी गेट राजा नाहर सिंह कॉरिडोर से जोड़ेगा। दक्षिणी दिल्ली के कई क्षेत्रों को भी जोड़ेगा। मार्च 2026 तक इस क्षेत्र में मेट्रो सेवा शुरू होगी।