home page

चालाक लड़के ने हिंदी व्याकरण के सवाल का दिया तगड़ा जवाब, बच्चे की लिखी बातों को पढ़कर तो टीचर भी हो गए खुश

आज के डिजिटल युग में इंटरनेट एक मंच बन गया है जहां बच्चों की अनोखे अंदाज और क्रीऐटिवटी को बड़ी पहचान मिलती है। हाल ही में इंस्टाग्राम पर एक बच्चे की आंसरशीट खूब वायरल हुई है।
 | 
student-hilarious-answer-sheet-goes-viral
   

आज के डिजिटल युग में इंटरनेट एक मंच बन गया है जहां बच्चों की अनोखे अंदाज और क्रीऐटिवटी को बड़ी पहचान मिलती है। हाल ही में इंस्टाग्राम पर एक बच्चे की आंसरशीट खूब वायरल हुई है। जिसमें उसने हिंदी व्याकरण से जुड़े प्रश्नों का उत्तर दिया है। यह आंसरशीट न केवल मनोरंजक है बल्कि यह भी दर्शाती है कि छात्र ने कितनी कल्पनाशीलता के साथ प्रश्नों का समाधान किया है।

इस तरह की वायरल वीडियो हमें शिक्षा में नयी तकनीक और क्रीऐटिवटी के महत्व को समझने का अवसर देती है। यह आवश्यक है कि शिक्षक और अभिभावक बच्चों को शिक्षा के प्रति अधिक सजग और उत्साहित करें, ताकि वे अपनी पढ़ाई को गंभीरता से लें और उसमें अच्छा प्रदर्शन कर सकें।

वायरल आंसरशीट के दिलचस्प उत्तर

इस आंसरशीट में तीन प्रश्न थे जिनके उत्तर इस प्रकार हैं:

  • संयुक्त व्यंजन किसे कहते हैं? छात्र ने जवाब दिया "मटर-पनीर और सभी मिक्स सब्जियां संयुक्त व्यंजन होती हैं।" इस जवाब से यह प्रतीत होता है कि छात्र ने व्याकरण के 'संयुक्त व्यंजन' की अवधारणा को खाने की वस्तुओं से जोड़ दिया।
  • भूत काल किसे कहते हैं? यहाँ उसका जवाब था "जब भूत हमारा काल बनकर आता है तो उसे भूत काल कहते हैं।" यह जवाब साबित करता है कि छात्र ने शब्दों के साथ खेलते हुए एक मजाकिया ट्विस्ट दिया है।
  • बहुवचन किसे कहते हैं? इस पर छात्र का उत्तर था "ससुराल के वजन सुनने वाली बहु को बहुवचन कहते हैं।" इस जवाब में भाषा के साथ छात्र की चतुराई और प्यार स्पष्ट रूप से झलकता है।

लोगों की प्रतिक्रियाएँ

इस पोस्ट को इंस्टाग्राम पर बेहद सराहना मिली है। जिसमें 27 लाख व्यूज और 16 हजार से अधिक लाइक्स शामिल हैं। हालांकि, कुछ लोगों ने इसे महज एक मनोरंजन के रूप में देखा, वहीं अन्य ने इसे शिक्षा की गुणवत्ता पर एक गंभीर प्रश्न के रूप में उठाया है।

हमारा Whatsapp ग्रूप जॉइन करें Join Now

शिक्षकों और शिक्षा नीति निर्माताओं के लिए यह विचारणीय है कि कैसे छात्र शिक्षा के प्रति अपनी रुचि को बरकरार रख सकें और अपनी पढ़ाई के प्रति अधिक गंभीर हो सकें