home page

लाखों में फॉलोअर्स होने के बाद भी नन्हे व्लॉगर मोहम्मद शिराज ने छोड़ा यूट्यूब, भारत और पाकिस्तान के लोगों को खूब पसंद आते थे विडियो

पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) के बाल्टिस्तान से आने वाले नन्हे व्लॉगर मोहम्मद शिराज ने अपनी वीडियो ब्लॉगिंग से न सिर्फ पाकिस्तान बल्कि भारत के लोगों का भी दिल जीत लिया है।
 | 
little-vlogger-mohammad-shiraz
   

पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) के बाल्टिस्तान से आने वाले नन्हे व्लॉगर मोहम्मद शिराज ने अपनी वीडियो ब्लॉगिंग से न सिर्फ पाकिस्तान बल्कि भारत के लोगों का भी दिल जीत लिया है। मगर हाल ही में उन्होंने यूट्यूब छोड़ने का दुखद फैसला किया है जिसने उनके अनेक चाहने वालों को निराश किया है।

अंतिम व्लॉग की गूँज

15 मई को शिराज ने अपने यूट्यूब चैनल पर अंतिम व्लॉग पोस्ट किया। इस व्लॉग में उन्होंने अपनी बहन मुस्कान के साथ आखिरी बार अपने अनुभवों को शेयर किया। शिराज ने इस भावनात्मक वीडियो में बताया कि उनके पिता चाहते हैं कि वह अपने व्लॉगिंग के शौक को छोड़कर पढ़ाई पर ध्यान दें।

शिराज का निर्णय और फैंस की प्रतिक्रिया

अपने व्लॉग में शिराज ने कहा "मैं आज से व्लॉग नहीं बनाऊंगा मेरे पिता ने कहा है कि तुम कुछ दिन पढ़ाई करो और वीडियो मत बनाओ।" इस निर्णय ने उनके अनेक चाहने वालों को भावुक कर दिया जिन्होंने उनके व्लॉग्स को बेहद पसंद किया था। फिर भी शिराज ने आगे कहा कि वह अपने माता-पिता की बात मानने के लिए तैयार हैं और भविष्य में शायद फिर से व्लॉगिंग शुरू कर सकते हैं।

हमारा Whatsapp ग्रूप जॉइन करें Join Now

मोहम्मद शिराज

मोहम्मद शिराज सियाचिन के पास बाल्टिस्तान के एक छोटे गांव घोरसे से आते हैं। उन्होंने अपने व्लॉग्स के जरिए न केवल अपने गांव की खूबसूरती को दुनिया के सामने रखा बल्कि अन्य युवाओं के लिए प्रेरणा का स्रोत भी बने। उनकी यूट्यूब पर उपलब्धियां और उनकी व्लॉगिंग की यात्रा ने उन्हें पीओके का सबसे युवा व्लॉगर होने का गौरव दिलाया।

शिराज की आशाजनक विदाई

अपने आखिरी वीडियो में शिराज ने अपने फैंस का दिल से शुक्रिया अदा किया और उम्मीद जताई कि वे भविष्य में फिर से उन्हें व्लॉगिंग करते हुए देख सकेंगे। उनका यह विदाई संदेश न सिर्फ उनके भावुक फैंस के लिए बल्कि यूट्यूब समुदाय के लिए भी एक आशाजनक संदेश है कि शिक्षा और शौक में संतुलन संभव है और भविष्य में दोबारा मिलने की संभावना बनी रहती है।