home page

बच्चों को भूलकर भी मत दे देना इस गैस से भरे गुब्बारे, वरना बाद में होगा जिंदगीभर पछतावा

हम घरों में या बाहर किसी जगह पर बैलून से डेकोरेशन करते हैं। बैलून को पहले हवा भरकर फुलाया जाता है।
 | 
बच्चों को भूलकर भी मत दे देना इस गैस से भरे गुब्बारे
   

हम घरों में या बाहर किसी जगह पर बैलून से डेकोरेशन करते हैं। बैलून को पहले हवा भरकर फुलाया जाता है। ये काम काफी थकाने वाला होता है। बाद में हवा भरने वाले पाइप का उपयोग होने लगा। लेकिन आज पार्टी समारोहों में गैस से भरे बैलून प्रयोग किए जाते हैं। हीलियम वाले गुब्बारे हवा में उड़ते हैं। लेकिन हिलियन की जगह अब बहुत से वेंडर्स इन बैलून्स में हाइड्रोजन भरने लगे हैं, जो बहुत खतरनाक गैस है।

हीलियम गैस के गुब्बारे बहुत छोटे होते हैं। ये आसमान में उड़ते हैं। पर ये सुरक्षित हैं। हीलियम एक नॉन एक्सप्लोसिव हल्की गैस है। लेकिन ये थोड़ा महंगा है। इसलिए अब कई बैलून्स वेंडर हाइड्रोजन भरकर इसे बेचने लगे हैं। हीलियम गैस सस्ता नहीं है। लेकिन ये विचित्र हैं। हाइड्रोजन से भरे गुब्बारे आग में धमाका करते हैं, जो बड़ी दुर्घटना में भी बदल सकता है।

महिला ने शेयर किया एक्सपीरियंस

आस्था जैन अग्रवाल नामक एक महिला ने सोशल मीडिया पर अपने साथ हुए एक ऐसे ही हादसे का एक वीडियो पोस्ट किया। वीडियो में आस्था ने कहा कि बच्चों को कभी भी गैस से भरे गिलास नहीं देने चाहिए। अब ये गुब्बारे हाइड्रोजन से भर रहे हैं, न कि हीलियम से। ये आग या किसी अन्य ज्वलनशील पदार्थ के संपर्क में आ सकते हैं। ये विस्फोट खतरनाक हो सकते हैं। महिला का चेहरा भी जल गया।

हमारा Whatsapp ग्रूप जॉइन करें Join Now

लोगों ने की बहादुरी की तारीफ

आस्था ने इस वीडियो को शेयर करते ही लोगों ने उसकी प्रशंसा शुरू कर दी। इस दुर्घटना के शिकार होने के बाद उसने अन्य लोगों को जिस तरह से बताया, वह प्रशंसा के काबिल है। लोगों ने लिखा कि अपने साथ ऐसा हादसा होने के बाद भी इतने शांत तरीके से लोगों को बताने के लिए काफी साहस चाहिए। कई लोगों ने आस्था को इस संदेश के लिए धन्यवाद व्यक्त किया और कहा कि वे आगे से अपने बच्चों को ऐसे गैस के बैलून नहीं देने की सलाह देंगे।