home page

इस खास कारण के चलते इस सड़क को रोड टू हेवन बोलते है लोग, असली वजह है बेहद खास

गुजरात का कच्छ क्षेत्र (Kutch Region), अपनी अद्भुत खूबसूरती और विशाल सफेद रेगिस्तान (White Desert) के लिए प्रसिद्ध है। यहाँ का सफेद रेगिस्तान, जो कि पछम और खादिर के बीच स्थित है, न केवल अपने आप में एक...
 | 
road to heaven

गुजरात का कच्छ क्षेत्र (Kutch Region), अपनी अद्भुत खूबसूरती और विशाल सफेद रेगिस्तान (White Desert) के लिए प्रसिद्ध है। यहाँ का सफेद रेगिस्तान, जो कि पछम और खादिर के बीच स्थित है, न केवल अपने आप में एक पर्यटन स्थल है बल्कि इसे काटने वाली सड़क भी पर्यटकों (Tourists) के लिए एक अद्वितीय आकर्षण का केंद्र बन गई है।

इस सड़क को लोग "स्वर्ग की सड़क" (Road to Heaven) भी कहते हैं। कच्छ का "स्वर्ग की सड़क" न केवल एक सड़क है बल्कि यह एक अद्वितीय पर्यटन अनुभव (Unique Tourism Experience) है जो यात्रियों को सफेद रेगिस्तान के बीच से गुजरते हुए अद्भुत दृश्यावली का अनुभव कराता है। इसके पूर्ण होने का इंतजार न केवल स्थानीय निवासियों बल्कि देश-विदेश से आने वाले पर्यटकों को भी है।

खासियत और महत्व (Significance)

कच्छ के लखपत तालुका (Lakhpat Taluka) में बन रहा 278 किमी लंबा राष्ट्रीय राजमार्ग (National Highway), जिसका 28 किमी हिस्सा सफेद रेगिस्तान से होकर गुजरता है, पर्यटन सर्किट (Tourism Circuit) और इलाके के विकास के लिए एक क्रांतिकारी कदम साबित होगा। यह सड़क विशाल रेगिस्तान के बीच से होकर गुजरती है और इसकी सीधी और विस्तृत दृश्यावली यात्रियों को एक अनोखी और अद्वितीय अनुभूति (Unique Experience) प्रदान करती है।

काम की वर्तमान स्थिति (Current Status)

इस सड़क का निर्माण कार्य 2019 में शुरू हुआ था, लेकिन 4 साल बाद भी यह पूरा नहीं हुआ है। धोलावीरा (Dholavira) के ग्रामीणों का मानना है कि सड़क के निर्माण में अभी और दो साल लगेंगे। हालांकि, जी20 शिखर सम्मेलन (G20 Summit) के लिए इस सड़क का एक हिस्सा पूरा किया गया था।

पर्यटकों की अपेक्षाएं और भविष्य (Expectations and Future)

सड़क के पूरा होने के बाद, "रोड टू हेवन" पर पर्यटकों की भीड़ में वृद्धि होने की पूरी उम्मीद है। यह न केवल कच्छ के पर्यटन (Kutch Tourism) को बढ़ावा देगा बल्कि स्थानीय आर्थिक विकास (Economic Development) में भी योगदान देगा।