home page

ट्रेन के साइड लोअर सीट में भी अब मजे से कटेगा आपका सफर, बगल में छिपा होता है ये कमाल का जुगाड पर लोगो को नही होती जानकारी

ट्रेन में यात्रा (Travel) करते समय यात्रियों को विभिन्न प्रकार की चुनौतियों (Challenges) का सामना करना पड़ता है। इनमें से एक मुख्य समस्या है बिना कंफर्म टिकट (Unconfirmed Ticket) के यात्रा करना और साइड लोअर...
 | 
_indian railways seat availability

ट्रेन में यात्रा (Travel) करते समय यात्रियों को विभिन्न प्रकार की चुनौतियों (Challenges) का सामना करना पड़ता है। इनमें से एक मुख्य समस्या है बिना कंफर्म टिकट (Unconfirmed Ticket) के यात्रा करना और साइड लोअर सीट (Side Lower Seat) पर आराम से न सो पाना।

इस तरह के जुगाड़ और नवाचार से यह स्पष्ट होता है कि रेलवे यात्रियों की सुविधा और आराम के लिए सतत प्रयासरत है। यात्रियों को इस प्रकार की सुविधाओं के बारे में अधिक जागरूक (Aware) होने की आवश्यकता है, ताकि वे अपनी यात्रा को और अधिक आरामदायक बना सकें।

साइड लोअर सीट की दिक्कतें

कई बार साइड लोअर सीट, जो RAC (Reservation Against Cancellation) वाली सीटों में शामिल होती हैं, दो हिस्सों में बंटी होती हैं, जिससे सोने (Sleeping) में दिक्कत होती है। लेकिन कुछ ट्रेनों (Trains) में इस समस्या का एक आसान समाधान मौजूद है।

जुगाड़ का सही इस्तेमाल

इंस्टाग्राम पर रिकी रविंद्र राजावत (@rickyravindrarajawat) द्वारा साझा एक वीडियो में यह दिखाया गया है कि कैसे साइड लोअर सीट के बगल में रखे गद्दे (Mattress) को निकालकर सीट पर बिछाकर उसे एक सिंगल बेड (Single Bed) में परिवर्तित किया जा सकता है, जिससे यात्री आराम से सो सकते हैं।


लोगों की प्रतिक्रिया और अनुभव

सोशल मीडिया (Social Media) पर इस वीडियो को देखकर कई लोगों ने अपने अनुभव साझा किए हैं। कुछ यात्रियों का कहना है कि उन्होंने कभी भी ऐसा जुगाड़ नहीं देखा, जबकि कुछ ने इसे सही बताया है और कहा है कि यह सुविधा मुख्य रूप से Second AC (सेकंड एसी) में उपलब्ध है।

विवाद और स्पष्टीकरण

कुछ यूजर्स ने इस जुगाड़ को गलत जानकारी (Misinformation) के रूप में चिन्हित किया है, यह कहते हुए कि वीडियो में दिखाया गया गद्दा दरअसल इमरजेंसी (Emergency) के लिए इस्तेमाल होने वाला स्ट्रेचर है।

सरकारी पहल और नवाचार

पीयुष गोयल (Piyush Goyal), रेल मंत्री, ने भी इसी प्रकार का एक वीडियो साझा किया था, जिसमें दिखाया गया था कि कैसे रेलवे (Railways) यात्रियों के आरामदायक सफर (Comfortable Journey) के लिए नवाचार (Innovation) कर रहा है।