home page

मार्केट में धड़ल्ले से बिक रहे नकली सरसों तेल की चुटकियों में होगी पहचान, इन बातों का रखेंगे ध्यान तो कोई नही बना पाएगा बेवकूफ

भारतीय रसोई में सरसों के तेल का उपयोग एक पारंपरिक और आवश्यक अंग है। खाना पकाने से लेकर विभिन्न औषधीय उपयोगों तक सरसों का तेल अपनी अद्वितीय सुगंध और स्वाद के लिए प्रसिद्ध है। लेकिन हाल ही में सामने...
 | 
sarso ke tel me milawat ka pata kaise karen
   

भारतीय रसोई में सरसों के तेल का उपयोग एक पारंपरिक और आवश्यक अंग है। खाना पकाने से लेकर विभिन्न औषधीय उपयोगों तक सरसों का तेल अपनी अद्वितीय सुगंध और स्वाद के लिए प्रसिद्ध है। लेकिन हाल ही में सामने आई खबरों ने सरसों तेल के उपभोक्ताओं को चिंतित कर दिया है। बाजार में मिलावटी सरसों के तेल के धड़ल्ले से बिकने की खबरें सामने आई हैं।

सरसों के तेल का चुनाव करते समय सावधानी बरतना आपकी सेहत के लिए लाभकारी सिद्ध हो सकता है। इस लेख में बताए गए तरीकों का उपयोग करके आप मिलावटी तेल से बच सकते हैं और अपने परिवार को स्वस्थ रख सकते हैं। सही जानकारी और जागरूकता आपको सही उत्पाद चुनने में मदद करेगी।

मिलावटी सरसों तेल की पहचान

सरसों के तेल में मिलावट आपकी सेहत के लिए हानिकारक साबित हो सकती है। इसलिए यह जरुरी है कि सरसों के तेल को खरीदते समय आप सावधान रहें। आपको कुछ विशेष तरीकों की मदद से मिलावटी सरसों के तेल की पहचान करने में मदद मिल सकती है।

हाथ में रगड़कर पहचानें

एक सरल और प्रभावी तरीका है सरसों के तेल को हाथ में लेकर रगड़ना। अगर तेल रगड़ने के बाद दूसरे रंग या गंध का पता चलता है, तो इसका मतलब है कि तेल में मिलावट की गई है। शुद्ध सरसों के तेल में चिपचिपाहट नहीं होती और इसकी सुगंध प्राकृतिक होती है।

फ्रिज में जमाकर जाँच

एक और तरीका है सरसों के तेल को फ्रिज में जमाना। अगर जमाने के बाद तेल में सफेद धब्बे दिखाई देते हैं, तो यह मिलावट का संकेत हो सकता है।

मिलावटी तेल के खतरे

मिलावटी सरसों के तेल का सेवन करने से आपको विभिन्न स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं। इसलिए बेहद जरुरी है कि आप जागरूक रहें और सावधानीपूर्वक तेल खरीदें।