home page

हरियाणा में शुरू हुई गेंहू की सरकारी खरीद, जाने किसानों को क्या मिलेगी कीमतें

हरियाणा सरकार ने 26 मार्च से गेहूं की खरीद शुरू करने का ऐतिहासिक निर्णय लिया है जिससे राज्य के किसानों के चेहरे पर उम्मीद की एक नई किरण जगी है। मुख्यमंत्री नायब सिंह सैनी की अध्यक्षता में हरियाणा सचिवालय में...
 | 
Haryana Wheat Government procurement
   

हरियाणा सरकार ने 26 मार्च से गेहूं की खरीद शुरू करने का ऐतिहासिक निर्णय लिया है जिससे राज्य के किसानों के चेहरे पर उम्मीद की एक नई किरण जगी है। मुख्यमंत्री नायब सिंह सैनी की अध्यक्षता में हरियाणा सचिवालय में आयोजित बैठक में इस योजना को अंतिम रूप दिया गया।

खरीद प्रक्रिया में किसानों की सुविधा प्राथमिकता

इस बैठक में किसानों की सुविधाओं पर विशेष ध्यान दिया गया ताकि गेहूं खरीद के समय किसानों को किसी भी प्रकार की दिक्कत का सामना न करना पड़े। इस संबंध में 26 केंद्रों का निर्माण किया गया है जहां पर किसान अपनी गेहूं की फसल को सरकारी खरीद के लिए ला सकेंगे।

वरिष्ठ नेताओं के साथ समन्वय

मुख्यमंत्री ने राज्य के पूर्व गृह मंत्री और वरिष्ठ नेता अनिल विज से मुलाकात करके उनसे आशीर्वाद प्राप्त किया। यह मुलाकात अंबाला में विज के आवास पर हुई जो राजनीतिक समन्वय और सामंजस्य की एक मिसाल पेश करती है। मुख्यमंत्री ने इस मुलाकात के दौरान विज से सीखने और उनके मार्गदर्शन में राज्य को आगे ले जाने की बात कही।

राज्य के विकास के लिए नई दिशा

मुख्यमंत्री सैनी ने राज्य को आगे ले जाने के लिए एक रोडमैप तैयार किया है। उन्होंने यह भी बताया कि राज्य के विकास के लिए उनकी योजनाएं और नीतियां कैसे वरिष्ठ नेताओं के मार्गदर्शन में आकार ले रही हैं। इस दिशा में गेहूं खरीद की प्रक्रिया को सुगम बनाना एक महत्वपूर्ण कदम है जो किसानों के हितों का ध्यान रखते हुए उठाया गया है।

किसानों के लिए सहायता और सुविधाएँ

सरकार ने यह सुनिश्चित किया है कि गेहूं खरीद के दौरान किसानों को पानी और बिजली जैसी बुनियादी सुविधाओं में कोई कमी न हो। इसके अलावा खरीद प्रक्रिया के दौरान किसी भी प्रकार की समस्या या अडचन से निपटने के लिए विशेष इंतजाम किए गए हैं। इस पहल से किसानों की उपज का सही मूल्य मिलने की उम्मीद है।

राजनीतिक सामंजस्य और एकता

मुख्यमंत्री नायब सिंह सैनी और अनिल विज की मुलाकात ने यह संकेत दिया है कि राज्य की राजनीति में सामंजस्य और एकता है। इस मुलाकात ने राज्य की राजनीतिक स्थिरता और विकास के प्रति दोनों नेताओं की प्रतिबद्धता को उजागर किया है।