home page

Government Scheme: दूसरी संतान बेटा होने पर सरकार की नई सहायता योजना, इन लोगों को मिलेगी सरकार की सहायता राशि

भारतीय समाज में मातृत्व को एक महत्वपूर्ण आयाम माना जाता है, और सरकार द्वारा इसे सहारा देने के लिए विभिन्न योजनाएं समय-समय पर लागू की जाती हैं। प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना के बाद, अब मुख्यमंत्री मातृत्व सहायता...
 | 
government give financial assistance second baby

भारतीय समाज में मातृत्व को एक महत्वपूर्ण आयाम माना जाता है, और सरकार द्वारा इसे सहारा देने के लिए विभिन्न योजनाएं समय-समय पर लागू की जाती हैं। प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना के बाद, अब मुख्यमंत्री मातृत्व सहायता योजना के तहत दूसरी संतान के रूप में बेटा होने पर महिलाओं को वित्तीय सहायता प्रदान करने की पहल की गई है।

मुख्यमंत्री मातृत्व सहायता योजना उन महिलाओं के लिए एक आशीर्वाद साबित हो रही है, जिन्हें मातृत्व के दौरान वित्तीय सहायता की आवश्यकता होती है। यह योजना न केवल उन्हें आर्थिक सहारा प्रदान करती है बल्कि समाज में उनकी स्वास्थ्य और कल्याण की स्थिति को भी सुधारने में मदद करती है।

योजना का उद्देश्य 

इस योजना का मुख्य उद्देश्य माताओं को आर्थिक सहायता प्रदान करके उनके मातृत्व काल को सुगम और सुरक्षित बनाना है। इससे न केवल माताओं की स्वास्थ्य सेवाओं तक पहुँच में सुधार होगा बल्कि संतान के पालन-पोषण में भी सहायता मिलेगी।

लाभार्थी

इस योजना के अंतर्गत अनुसूचित जाति (SC), अनुसूचित जनजाति (ST), 40% या इससे अधिक दिव्यांग महिलाएं, बीपीएल कार्ड धारक, आयुष्मान भारत योजना की लाभार्थी, ई-श्रम कार्ड धारक, मनरेगा से जुड़ी महिलाएं, ऐसी महिलाएं जिनके परिवार की आय आठ लाख रुपये वार्षिक से कम हो, आशा वर्कर्स, आशा हेल्पर और आंगनबाड़ी वर्कर्स शामिल हैं।

वित्तीय सहायता

दूसरी संतान के रूप में बेटा होने पर लाभार्थी महिलाओं को एक मुश्त किश्त में पांच हजार रुपये की सहायता राशि प्रदान की जाएगी। इस योजना के तहत आठ मार्च 2022 से पैदा होने वाले बच्चों को शामिल किया गया है।

बजट आवंटन

बाल विकास विभाग ने इस योजना के लिए बजट के लिए पत्र भेजा है। बजट आने के बाद तुरंत ही लाभार्थियों को इस योजना के तहत सहायता राशि दे दी जाएगी।