home page

Govt Scheme: हरियाणा में महिलाओं को खट्टर सरकार देगी 3 लाख, जाने कैसे करना होगा आवेदन

हरियाणा महिला विकास निगम ने शुरू की गई एक नई योजना से हरियाणा की लड़कियां और महिलाएं आत्मनिर्भरता की ओर बढ़ रही हैं। इस योजना के तहत 18 से 60 वर्ष की हरियाणा की महिलाओं को 3 लाख रुपये तक का ऋण मिलेगा।
 | 
Haryana Mahila Vikas Nigam

हरियाणा महिला विकास निगम ने शुरू की गई एक नई योजना से हरियाणा की लड़कियां और महिलाएं आत्मनिर्भरता की ओर बढ़ रही हैं। इस योजना के तहत 18 से 60 वर्ष की हरियाणा की महिलाओं को 3 लाख रुपये तक का ऋण मिलेगा।

हरियाणा महिला विकास निगम की योजना 

योजना का मुख्य लक्ष्य हरियाणा की महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाना है, ताकि वे सुरक्षित और खुशहाल जीवन जी सकें। योजना के तहत योग्य महिलाओं और लड़कियों को 3 लाख रुपये तक का ऋण मिलेगा।

इसके लिए आवेदकों की आयु 18 से 60 वर्ष होनी चाहिए और उनकी वार्षिक आय 5 लाख रुपये से अधिक नहीं होनी चाहिए। इस योजना में समर्पण से काम करने वाले लोगों को तीन वर्ष तक 7 प्रतिशत ब्याज अनुदान राशि भी मिलेगी।

यदि वे समय पर किश्तों का भुगतान करते हैं। महिलाओं को उनकी नौकरी में सुधार करने में मदद करने के लिए इस योजना के तहत कई सेवाएं शुरू की गईं हैं। इसमें कुछ सेवाएं शामिल हैं।

रोजगार स्थापना

ऑटोरिक्शा, छोटे मालवाहन, तिपहिया साइकिल, टैक्सी, सैलून, ब्यूटी पार्लर, सिलाई, बुटीक, फोटो कॉपी स्टोर, पापड़, अचार, कन्फेक्शनरी, खाद्य और आइसक्रीम बनाने के लिए ऋण मिलता है।

कैटिन सेवा

महिलाओं को कैंटीन सेवा भी मिलती है, जहां वे बिस्किट, यूनिट, हथकरघा, बैग बनाने के लिए ऋण ले सकती हैं।

पेपर-मुक्त प्रक्रिया

योजना ने बदलाव का समर्थन करते हुए पेपरलेस बजट जारी करने का भी फैसला किया है, जिससे आवेदन प्रक्रिया में सुधार होगा।

वकील ने कहा, "यह योजना महिलाओं को स्वावलंबन में सहारा देने के लिए है और इससे महिलाएं न केवल अपने आप को सहारा देने में सक्षम होंगी, बल्कि अपने परिवार को भी सहारा देने में सक्षम होंगी।" इससे समाज में सकारात्मक बदलाव होगा और महिलाओं को अधिक आत्मविश्वास मिलेगा।"

आवेदक हरियाणा महिला विकास निगम की वेबसाइट पर अधिक विवरण देख सकते हैं। हरियाणा महिला विकास निगम ने इस महत्वपूर्ण योजना के माध्यम से महिलाओं को आत्मनिर्भरता के पथ पर नया कदम उठाने में मदद की है, जिससे समाज में सकारात्मक बदलाव होगा।