home page

Haryana Fourlane Highway: हरियाणा और पंजाब को जोड़ने वाला ये हाइवे होगा फोरलेन, इन जिलों के लोगों की हो जाएगी मौज

हरियाणा में सड़कों को गड्ढा मुक्त करने की दिशा में तेजी से काम हो रहा है। सरकार का उद्देश्य राज्य की सड़कों को सुरक्षित और सुविधाजनक बनाना है।
 | 
good-news-for-the-people-of-haryana
   

हरियाणा में सड़कों को गड्ढा मुक्त करने की दिशा में तेजी से काम हो रहा है। सरकार का उद्देश्य राज्य की सड़कों को सुरक्षित और सुविधाजनक बनाना है। इस पहल का एक महत्वपूर्ण हिस्सा हरियाणा के कुरुक्षेत्र में थानेसर से पिहोवा स्टेट हाईवे के थर्ड गेट से ज्योतिसर तक के पांच किलोमीटर फोरलेन हिस्से को मॉडल बनाना है।

हाईवे प्रोजेक्ट की शुरुआत

इस हाईवे के निर्माण का कार्य दो महीने पहले शुरू हो चुका है। यह हिस्सा हरियाणा को पंजाब से जोड़ेगा, जिससे दोनों राज्यों के बीच यातायात सुगम होगा। इस प्रोजेक्ट के तहत स्ट्रीट लाइट, संकेत बोर्ड और आकर्षक डिवाइडर जैसी सुविधाएं भी मुहैया कराई जाएंगी। गड्ढों में बदल चुके स्टेट हाईवे नंबर 6 पर अगले चार महीने बाद वाहन दौड़ पाएंगे। इस प्रोजेक्ट पर लगभग 30 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे।

पीडब्ल्यूडी विभाग की तैयारियां

पीडब्ल्यूडी विभाग ने इस हाईवे के निर्माण की सारी तैयारियां पूरी कर ली हैं। विभाग के कार्यकारी अभियंता राजकुमार ने बताया कि हाईवे के निर्माण का खाका तैयार हो चुका है और सरकार द्वारा बजट भी मंजूर कर लिया गया है। संबंधित एजेंसियों को कार्य शॉप पर जाने की प्रक्रिया पूरी की जा रही है।

हमारा Whatsapp ग्रूप जॉइन करें Join Now

टूटी हुई सड़कों की मरम्मत

यह हाईवे लंबे समय से कई जगह से टूटा हुआ था। परंतु अब इसे फोरलेन बनाया जाएगा। पिछले दिनों पीडब्ल्यूडी विभाग ने इसके ज्यादातर गड्ढे भरने का काम शुरू किया था। लेकिन अभी भी कई जगह से यह सड़क टूटी हुई है। अब इस मॉडल हाईवे के तहत इसे पूरी तरह से सुधारने का लक्ष्य है।

पंजाब-हरियाणा को जोड़ने वाला हाईवे

यह हाईवे पंजाब के पटियाला से हरियाणा के कैथल जिले तक को आपस में जोड़ता है। दोनों राज्यों के बीच यात्रियों और वाहनों का बड़ा आवागमन होता है। इस हाईवे के बनने से दोनों राज्यों के बीच यात्रा अधिक सुरक्षित और सुगम होगी। साथ ही इस हाईवे के सुधार से क्षेत्र के पर्यटन को भी बढ़ावा मिलेगा।

बजट और योजनाएं

सरकार ने इस प्रोजेक्ट के लिए बजट मंजूर कर लिया है और संबंधित एजेंसियों को कार्य शुरू करने के आदेश दे दिए गए हैं। इस हाईवे के निर्माण में आधुनिक तकनीक और उच्च गुणवत्ता की सामग्री का उपयोग किया जाएगा। ताकि यह सड़क लंबे समय तक सुरक्षित और टिकाऊ रहे।