home page

हरियाणा में इस उम्र के कुंवारे लोगों को मिलेगी 3000 रुपए की पेंशन, खट्टर सरकार ने अविवाहितों को दिया बड़ा तोहफा

सरकार ने एक अनूठी पहल की है जिसके अंतर्गत अविवाहित व्यक्तियों और विधवाओं को वित्तीय सहायता (Financial Assistance) प्रदान की जाएगी। इस योजना के तहत, घर में मौजूद किसी भी अविवाहित सदस्य या जिनकी...
 | 
governments-gift-to-the-people-of-haryana

सरकार ने एक अनूठी पहल की है जिसके अंतर्गत अविवाहित व्यक्तियों और विधवाओं को वित्तीय सहायता (Financial Assistance) प्रदान की जाएगी। इस योजना के तहत, घर में मौजूद किसी भी अविवाहित सदस्य या जिनकी पत्नी का निधन हो गया है। उन्हें प्रति माह 3,000 रुपये (Pension) की राशि पेंशन के रूप में दी जाएगी।

यह पहल विशेष रूप से उन लोगों के लिए की गई है जिन्हें वित्तीय सहारे (Financial Support) की आवश्यकता है। इस योजना के माध्यम से, सरकार ने विधवाओं, विधुरों, और अविवाहितों को एक नई उम्मीद और सहारा प्रदान किया है।

यह न केवल उनके वित्तीय बोझ को कम करेगा बल्कि उन्हें एक सुरक्षित भविष्य की ओर भी अग्रसर करेगा। सरकार की इस पहल का उद्देश्य समाज के हर वर्ग को समान रूप से सहायता प्रदान करना है, ताकि वे एक समृद्ध और स्वावलंबी जीवन जी सकें।

योजना के लाभार्थी कौन होंगे पात्र?

इस योजना का लाभ उन विधवाओं और अविवाहितों को भी मिलेगा जिनकी आयु 45 वर्ष से अधिक है। इसे 'वृद्धावस्था सम्मान भत्ता' (Elderly Respect Allowance) कहा जाता है।

पहले चरण में, नवंबर तक कुल 507 विधवाओं को इस योजना के लाभ के लिए चुना गया है। इस योजना का उद्देश्य समाज के इन वर्गों को सम्मान (Respect) और वित्तीय स्थिरता (Financial Stability) प्रदान करना है।

पेंशन वितरण कब और कैसे?

दिसंबर में, इस योजना के तहत पेंशन का वितरण अंतिम चरण में है। सभी लाभार्थियों को जल्द ही उनकी पेंशन (Pension Distribution) मिल जाएगी, जिससे उनकी आर्थिक स्थिति में सुधार होगा। यह वितरण प्रक्रिया सुनिश्चित करती है कि सहायता सीधे लाभार्थियों के बैंक खातों (Bank Accounts) में पहुँचे।

योग्यता मानदंड कौन बन सकता है लाभार्थी?

अविवाहित श्रेणी के लिए, पात्रता मानदंड (Eligibility Criteria) काफी स्पष्ट हैं। योजना का लाभ केवल उन्हीं व्यक्तियों को मिलेगा जिनकी आयु 45 वर्ष से अधिक है और जिनकी वार्षिक आय 1 लाख 80 हजार रुपये से कम है। इससे यह सुनिश्चित होता है कि वित्तीय सहायता उन तक पहुँचे जिन्हें वास्तव में इसकी जरूरत है (Need-Based Assistance)।

आगामी चरण: पेंशन की राशि का वितरण

दूसरे चरण में, जनवरी की पेंशन फरवरी में वितरित की जाएगी। अब तक, कुल 12,270 विधवाओं और 2,586 अविवाहित व्यक्तियों को इस योजना के लिए चुना गया है। यह पहल न केवल उनकी आर्थिक मदद करेगी बल्कि उन्हें समाज में एक सम्मानजनक स्थान (Respectful Place) भी प्रदान करेगी।