home page

हरियाणा के ग्रामीण इलाकों में अब दिन में इस टाइम नही आयेगी बिजली, बिजली निगम ने लिया बड़ा डिसीजन

हरियाणा के ग्रामीण इलाकों में बिजली सप्लाई के मामले में बिजली निगम ने एक बड़ा और महत्वपूर्ण फैसला लिया है। यह फैसला गेहूं की कटाई के सीजन को देखते हुए उठाया गया है, जो कि इस समय ग्रामीण इलाकों में शुरू हो चुका है।
 | 
Haryana Electricity Cut
   

हरियाणा के ग्रामीण इलाकों में बिजली सप्लाई के मामले में बिजली निगम ने एक बड़ा और महत्वपूर्ण फैसला लिया है। यह फैसला गेहूं की कटाई के सीजन को देखते हुए उठाया गया है, जो कि इस समय ग्रामीण इलाकों में शुरू हो चुका है। हरियाणा बिजली निगम का यह फैसला ग्रामीण इलाकों में फसल कटाई के दौरान आगजनी की घटनाओं को रोकने के लिए एक सराहनीय कदम है।

यह न केवल किसानों की सुरक्षा सुनिश्चित करता है बल्कि उनकी मेहनत से उपजी फसलों की रक्षा भी करता है। इस तरह के निर्णय समाज में सुरक्षा और सावधानी के प्रति जागरूकता बढ़ाने में मदद करते हैं।

बिजली सप्लाई में बदलाव

बिजली निगम की ओर से यह घोषणा की गई है कि 1 अप्रैल से 30 अप्रैल तक ग्रामीण इलाकों में बिजली सप्लाई बंद रहेगी। यह समय सुबह 7 बजे से लेकर शाम की 7 बजे तक होगा, जिस दौरान बिजली पूरी तरह से बंद रहेगी।

फसल कटाई सीजन और बिजली बंदी

गेंहू और सरसों की फसल की कटाई का सीजन इस समय शुरू हो चुका है। फसलों की पक्की अवस्था में खेतों के आस-पास से गुजरने वाली बिजली लाइनों को बंद करने का निर्णय लिया जाता है। इसका मुख्य कारण यह है कि किसी भी तरह के शॉर्ट सर्किट से आगजनी की घटना न हो, जो कि फसलों और किसानों के लिए बहुत बड़ी क्षति हो सकती है।

किसानों की फसलों की सुरक्षा 

इस फैसले के पीछे मुख्य उद्देश्य किसानों और उनकी फसलों की सुरक्षा को सुनिश्चित करना है। बिजली लाइनों के खुले होने से अगर आगजनी की घटना होती है, तो इससे बड़े पैमाने पर नुकसान हो सकता है। इसलिए बिजली निगम ने सावधानीपूर्वक यह निर्णय लिया है।

आवश्यक सुविधाएँ और विकल्प

बिजली सप्लाई बंद होने के दौरान किसानों को अपने कृषि कार्यों और अन्य जरूरतों के लिए वैकल्पिक स्रोतों का उपयोग करना पड़ सकता है। इस संबंध में बिजली निगम और सरकार की ओर से जरूरी सहायता और निर्देश भी प्रदान किए जाने चाहिए, ताकि किसानों को कम से कम असुविधा हो।