home page

Haryana Roads: हरियाणा में इन जिलों में 20 हजार किलोमीटर सड़कों की सुधरेगी हालात, इस जिलें में 750 करोड़ रूपये की लागत से बनेगा एलिवेटिड रोड

हरियाणा के उपमुख्यमंत्री, श्री दुष्यंत चौटाला (Dushyant Chautala), ने प्रकाश डाला कि राज्य सरकार पिछले सवा चार साल (4.5 Years) से सड़क इंफ्रास्ट्रक्चर (Road Infrastructure) को मजबूत करने में जुटी है।
 | 
haryana-roads-improvement-of-20-thousand-kilometers

हरियाणा के उपमुख्यमंत्री, श्री दुष्यंत चौटाला (Dushyant Chautala), ने प्रकाश डाला कि राज्य सरकार पिछले सवा चार साल (4.5 Years) से सड़क इंफ्रास्ट्रक्चर (Road Infrastructure) को मजबूत करने में जुटी है। इस दौरान 15,005 किलोमीटर (Kilometers) सड़कों की मरम्मत और मजबूतीकरण की गई।

जबकि 1,550 किलोमीटर नया सड़क नेटवर्क (New Road Network) विकसित किया गया। हरियाणा सरकार के ये प्रयास राज्य में यातायात की सुविधा और सुरक्षा को बढ़ाने में महत्वपूर्ण साबित हो रहे हैं। इन कदमों से न केवल यातायात की स्थिति में सुधार होगा बल्कि लोगों की जीवनशैली में भी सकारात्मक बदलाव आएगा।

प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के अंतर्गत उन्नति

उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना (PMGSY) के तहत लगभग 2,500 किलोमीटर ग्रामीण सड़कों का आधारभूत ढांचा सुधारा गया है। इसके साथ ही, नाबार्ड (NABARD) के फंड से 1,360 किलोमीटर लंबाई की सड़कों का सुधारीकरण किया गया है।

सड़कों का बेहतरीन सुधार

कुल मिलाकर, 20,399 किलोमीटर स्टेट फंड और केंद्र सरकार की आर्थिक सहायता (Financial Assistance) से MDR, ODR, लिंक सड़कें, और स्टेट हाईवेज (State Highways) का उन्नयन किया गया है।

बाईपास का निर्माण और ट्रैफिक समाधान

उपमुख्यमंत्री ने यह भी जानकारी दी कि करनाल, अंबाला, पिंजौर, और झज्जर सहित 12 नेशनल हाइवेज (National Highways) के बाईपास बनाए गए हैं। इससे शहरों में यातायात का दबाव कम होगा और जाम की समस्या से मुक्ति मिलेगी।

"फाटक-मुक्त हरियाणा" की दिशा में प्रगति

"फाटक-मुक्त हरियाणा" (Gate-Free Haryana) की दिशा में उठाए गए कदमों की बदौलत, अब तक 35 आरओबी (ROB) बनाए जा चुके हैं और अगले छह महीनों में 52 आरओबी का निर्माण पूरा होने की उम्मीद है।

केंद्र सरकार का सहयोग और नए एक्सप्रेस-वे

उपमुख्यमंत्री ने केंद्र सरकार के सहयोग के लिए आभार व्यक्त किया और बताया कि प्रदेश को 2 ग्रीनफील्ड एक्सप्रेस-वे (Greenfield Expressways) दिए गए हैं, जिनकी DPR तैयार हो चुकी है।

ब्लैक स्पॉट्स का चिन्हीकरण और सुधार

पिछले तीन वर्षों में राज्य में 350 ब्लैक स्पॉट्स (Black Spots) चिन्हित किए गए हैं, जहां दुर्घटनाएं होती रहती हैं। इन स्थानों पर सुधार कार्य जारी है।

दुर्घटना स्थलों पर जियो-टैगिंग

उपमुख्यमंत्री ने बताया कि एक्सीडेंट (Accidents) होने पर जियो-टैगिंग (Geo-Tagging) की जाएगी, जिससे भविष्य में उन स्थानों पर सुधारात्मक कदम उठाए जा सकें।

आगामी विकास परियोजनाएं

हिसार में एक एलिवेटिड रोड (Elevated Road) और बहादुरगढ़ में एक लंबी एलिवेटिड रेलवे लाइन का निर्माण प्रस्तावित है, जिससे यातायात की सुविधा में और वृद्धि होगी।