home page

हरियाणा में ओलावृष्टि से हुए फसलों के नुकसान का मिलेगा मुआवजा, आवेदन करने के लिए इन डॉक्युमेंट की पड़ेगी जरुरत

हरियाणा के किसानों के लिए जो पहले ही मौसम की मार झेल रहे हैं आजकल में ओलावृष्टि ने उनकी मुश्किलों को और बढ़ा दिया है। रेवाड़ी जिले में आई इस आपदा ने खेतों में लगी फसलों को काफी नुकसान पहुंचाया है जिसके चलते किसानों ने मुआवजे की मांग की है।
 | 
हरियाणा में ओलावृष्टि से हुए फसलों के नुकसान का मिलेगा मुआवजा, आवेदन करने के लिए इन डॉक्युमेंट की पड़ेगी जरुरत
   

हरियाणा के किसानों के लिए जो पहले ही मौसम की मार झेल रहे हैं आजकल में ओलावृष्टि ने उनकी मुश्किलों को और बढ़ा दिया है। रेवाड़ी जिले में आई इस आपदा ने खेतों में लगी फसलों को काफी नुकसान पहुंचाया है जिसके चलते किसानों ने मुआवजे की मांग की है।

ओलावृष्टि का प्रभाव और किसानों की बढ़ती चिंता

शुक्रवार को रेवाड़ी जिले के कई गांवों में हुई ओलावृष्टि ने किसानों के चेहरे की खुशी छीन ली है। जिन फसलों को उन्होंने महीनों की मेहनत से उगाया था वे चंद मिनटों में बर्बाद हो गईं। इस घटना ने किसानों की आर्थिक स्थिति पर गहरा प्रभाव डाला है और उनकी चिंता को और भी बढ़ा दिया है।

मुआवजे की मांग और प्रशासन की प्रतिक्रिया

बर्बाद हुई फसल के मुआवजे की मांग को लेकर बड़ी संख्या में किसान जिला सचिवालय पहुंचे। उन्होंने जिला प्रशासन को एक ज्ञापन सौंपकर मुआवजे की मांग की। जवाब में उपायुक्त के निर्देश पर SDM विकास यादव ने रेवाड़ी जिले के कई गांवों का दौरा किया और ओलावृष्टि फसल का जायजा लिया।

ई-मुआवजा पोर्टल का रोल

राजस्व विभाग की टीम ने बताया कि किसानों को 6 अप्रैल तक ई-मुआवजा पोर्टल पर आवेदन करना होगा। यह फैसला किसानों की सुविधा के लिए किया गया है ताकि वे आपदा के कारण फसलों को हुए नुकसान की जानकारी सीधे दर्ज करा सकें।