home page

हरियाणा में एकबार फिर झमाझम बारिश के लिए हो जाए तैयार, मौसम विभाग के नए अपडेट से किसानों की बढ़ी टेंशन

हरियाणा के छह जिलों में पिछले दो दिनों की बारिश और ओलावृष्टि के बाद मौसम विभाग ने एक बार फिर से खराब मौसम की चेतावनी दी है।
 | 
हरियाणा में एकबार फिर झमाझम बारिश के लिए हो जाए तैयार, मौसम विभाग के नए अपडेट से किसानों की बढ़ी टेंशन
   
WhatsApp Group Join Now

हरियाणा के छह जिलों में पिछले दो दिनों की बारिश और ओलावृष्टि के बाद मौसम विभाग ने एक बार फिर से खराब मौसम की चेतावनी दी है। चंडीगढ़, पंचकूला, अंबाला, यमुनानगर, कुरुक्षेत्र और करनाल—इन उत्तरी जिलों में अगले दो दिनों में गरज-चमक के साथ बारिश की संभावना जताई गई है। यह जानकारी देते हुए मौसम विभाग ने इन जिलों में यलो अलर्ट जारी कर दिया है।

किसानों पर पड़ सकता है बुरा असर

हाल ही में हुई बारिश और ओलावृष्टि के कारण हरियाणा के किसानों की चिंताएं बढ़ गई हैं। मंडियों में गेहूं के उठान में देरी के चलते किसान पहले से ही परेशान हैं। प्रदेश में इस साल मार्च से अप्रैल तक पांच बार बारिश और ओलावृष्टि हो चुकी है, जिससे गेहूं और सरसों की फसलों को काफी नुकसान पहुंचा है। मौसम विभाग के नए अलर्ट से यह चिंता और बढ़ गई है कि आने वाले दिनों में भी फसलों को नुकसान हो सकता है।

तापमान में आई कमी लेकिन बढ़ी मुश्किलें

हरियाणा में इस बार के मौसमी बदलाव ने न केवल बारिश और ओलावृष्टि का रूप लिया है, बल्कि तापमान में भी महत्वपूर्ण गिरावट आई है। बीते 24 घंटे में प्रदेश के सभी जिलों में अधिकतम तापमान 40 डिग्री से नीचे रहा, जिसमें मेवात ने सबसे अधिक 39.8 डिग्री रिकॉर्ड किया। यह तापमान की कमी अचानक से आई ठंडी हवाओं के कारण हुई है, जो न केवल मौसम की अप्रत्याशितता को दर्शाती है बल्कि सामान्य जीवन पर भी इसका गहरा प्रभाव डालती है।

सावधानी बरतने की जरूरत

मौसम विभाग के अलर्ट के आधार पर, स्थानीय प्रशासन ने किसानों और आम जनता से सावधानी बरतने की अपील की है। खासकर किसानों से कहा गया है कि वे अपनी फसलों का ख्याल रखें और जहां तक संभव हो, उन्हें सुरक्षित रखने की कोशिश करें। साथ ही, लोगों को भी अनावश्यक रूप से बाहर निकलने से बचने की सलाह दी गई है। मौसम की इस तरह की अनिश्चितताओं के बीच, यह जरूरी है कि हम सभी सतर्क रहें और आवश्यक सुरक्षा उपायों को अपनाएं।