home page

Haryana Weather: हरियाणा में हुई अच्छी बारिश से लोगों को मिली ठंड से थोड़ी राहत, आज इन 9 जिलों में बारिश का येलो अलर्ट हुआ जारी

हरियाणा (Haryana) राज्य में पश्चिमी विक्षोभ (Western Disturbance) के चलते मौसम का मिजाज बदल गया है। कई जिलों में बारिश (Rain) और ओलावृष्टि (Hailstorm) ने न केवल मौसम को सुहाना बना दिया है...
 | 
Rain Alert in Haryana 3rd Feb

हरियाणा (Haryana) राज्य में पश्चिमी विक्षोभ (Western Disturbance) के चलते मौसम का मिजाज बदल गया है। कई जिलों में बारिश (Rain) और ओलावृष्टि (Hailstorm) ने न केवल मौसम को सुहाना बना दिया है, बल्कि हवा को भी साफ (Clean Air) किया है। करनाल (Karnal) और अंबाला (Ambala) की हवा सबसे ज्यादा साफ रही, जहाँ वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) क्रमशः 48 और 49 दर्ज किया गया।

आगामी दिनों में मौसम की स्थिति

मौसम साफ होने की वजह से रात के तापमान (Night Temperature) में गिरावट आई है। वर्षा के कारण घना कोहरा (Dense Fog) भी छाया रहा, जिससे दृश्यता (Visibility) महज पांच मीटर तक सीमित रही। नए पश्चिमी विक्षोभ के कारण आगामी दिनों में उत्तर भारत के मैदानी इलाकों में और बारिश होने की संभावना है। 

हरियाणा में मौसम के बदलाव ने लोगों को नए अनुभव प्रदान किए हैं। ओलावृष्टि और बारिश से न केवल पर्यावरण साफ हुआ है, बल्कि कृषि और दैनिक जीवन पर भी इसका गहरा प्रभाव पड़ा है।

मौसम विभाग की चेतावनियां और अलर्ट लोगों को आगामी स्थितियों के लिए तैयार रहने में मदद करते हैं। इस परिवर्तनशील मौसम ने हरियाणा के निवासियों को नए अनुभव दिए हैं और प्रकृति के साथ तालमेल बिठाने की ओर इशारा किया है।

बारिश का अलर्ट और संभावित प्रभाव

मौसम विभाग (Weather Department) के अनुसार, हरियाणा के नौ जिलों में बारिश का येलो अलर्ट (Yellow Alert) जारी किया गया है, जिसमें महेंद्रगढ़, रेवाड़ी, झज्जर, रोहतक आदि शामिल हैं। इस अलर्ट के चलते कृषि (Agriculture) और दैनिक जीवन पर प्रभाव पड़ने की संभावना है।

धूप और कोहरे के बीच लोगों को राहत

बुधवार देर रात हुई बारिश के बाद, वीरवार और शुक्रवार को कोहरा छाया रहा। दोपहर में धूप खिलने से लोगों को ठंड और कोहरे से कुछ राहत (Relief) मिली। वाहन चालकों को घने कोहरे के कारण परेशानी हुई, लेकिन धूप निकलने से स्थिति में सुधार हुआ।

मौसम साफ होने पर तापमान में परिवर्तन

कृषि मौसम विज्ञान विभाग (Agricultural Meteorology Department) के अनुसार, मौसम साफ होने पर रात का तापमान गिरता है और अधिकतम तापमान बढ़ता है। बादल छाने पर यह स्थिति उलट जाती है। आगामी दिनों में पश्चिमी विक्षोभ के एक्टिव होने से रात के तापमान में उछाल आने और बाद में ठंड बढ़ने की संभावना है।