home page

Hill Station: शिमला के बेहद पास में है ये 5 खूबसूरत हिल स्टेशन, कम खर्चे में परिवार के साथ हो जाएगी यादगार ट्रिप

हिमाचल प्रदेश में बहुत सी सुंदर जगहें हैं, जिनकी सुंदरता को देखने के लिए लोग दूर-दूर से आते हैं, इस बात से बिल्कुल भी इनकार नहीं किया जा सकता। हालाँकि, यहां की सुंदर घाटियों से लेकर बर्फ से ढकी पहाड़ियों...
 | 
5 most beautiful hill stations

हिमाचल प्रदेश में बहुत सी सुंदर जगहें हैं, जिनकी सुंदरता को देखने के लिए लोग दूर-दूर से आते हैं, इस बात से बिल्कुल भी इनकार नहीं किया जा सकता। हालाँकि, यहां की सुंदर घाटियों से लेकर बर्फ से ढकी पहाड़ियों तक लोगों को बहुत आकर्षित करती हैं। इतना ही नहीं, यहां की कुछ जगहें इतनी सुंदर हैं कि लोग वहां से निकलना नहीं चाहेंगे।

लेकिन कियारीघाट हिल स्टेशन अलग है। कियारीघाट हिमाचल प्रदेश में कालका-शिमला राष्ट्रीय राजमार्ग से 22 किमी की दूरी पर एक छोटा सा हिल स्टेशन है. यह हरे-भरे जंगलों और सुंदर प्राकृतिक दृश्यों से घिरा हुआ है। दिल्ली और एनसीआर में रहने वालों के लिए यह छुट्टी का सर्वश्रेष्ठ स्थान है।

यही कारण है कि कियारीघाट का आकर्षण और सुंदरता हर साल हजारों पर्यटकों को आकर्षित करता है। यही कारण है कि अगर आप अभी कियारीघाट जाने की योजना बना रहे हैं, तो हम आपको वहां क्या कर सकते हैं बता देंगे।

द एप्पल कार्ट इन

अगर आप कियारीघाट पहुंचने के बाद "द एप्पल कार्ट इन" नहीं देखा है, तो आपने कुछ नहीं देखा। इसका कारण यह जगह की सुंदरता है। हाल ही में यह स्थान डाक बंगला था, लेकिन हिमाचल प्रदेश टूरिज्म ने इसे एक इकॉनोमी बार और कुछ रेस्तरां में बदल दिया है।

यहां आप स्नैक्स और टेस्टी भोजन का आनंद ले सकते हैं। इस कैफेटेरिया की एक विशेषता यह है कि यह देर रात तक अपने ग्राहकों की सेवा करता है। आप अपने दोस्तों के साथ यहां मस्ती कर सकते हैं।

चूड़धार अभयारण्य

56 वर्ग किलोमीटर का चूड़धार अभयारण्य हिमाचल प्रदेश के राज्य सिरमौर जिले में है। इस स्थान की स्थापना 1985 में हुई थी। यहां पहुंचने पर आपको चूड़घार चिरघुल महाराज की प्रतिमा भी देखने को मिलेगी।

इस स्थान को चूड़ीचांदनी (बर्फ की चूड़ी) भी कहते हैं। आपको बता दें कि यहां भगवान शिव को भक्तों को शिरगुल महाराज के रूप में देखा जा सकता है। शिरगुल महादेव को सिरमौर और चौपाल का देवता भी कहा जाता है।

करोल की गुफा

करोल गुफा हिमाचल प्रदेश के सोलन जिले में करोल पहाड़ के ऊपर है। यह हिमालय की सबसे लंबी-पुरानी और रहस्यमयी गुफा है, जिसमें आज भी कई राज हैं। इस गुफा तक पहुंचने के लिए पर्यटकों को करोल चोटी के शिखर पर जाना पड़ता है।

माना जाता है कि भगवान शिव के अलावा पांडवों ने भी यहाँ तपस्या की थी। इस गुफा को पांडव गुफा भी कहा जाता है। गुफा के आसपास भी कई शिवलिंग बने हुए हैं। यही कारण है कि भगवान शिव से जुड़े कई रहस्य इस गुफा में छिपे हुए हैं।

जटोली

जटोली सोलन, राजगढ़ रोड पर स्थित एक छोटा लेकिन सुंदर गांव है, जो विशाल शिव मंदिर से प्रसिद्ध है। इस स्थान की सुंदरता इसे खास बनाती है। लगभग 111 फुट ऊंचा जटोली शिव मंदिर है।

इस मंदिर से माना जाता है कि भगवान शिव एक बार यहां आए थे और कुछ समय रहे थे। 1950 के दशक में स्वामी कृष्णानंद परमहंस नामक एक बाबा यहां आए, और उनके निर्देश पर जटोली शिव मंदिर का निर्माण शुरू हुआ।

कियारीघाट पहुंचने का तरीका

अगर आप कियारीघाट से हवाई यात्रा करना चाहते हैं, तो शिमला का जुब्बल हट्टी एयरपोर्ट यहां का सबसे नजदीकी एयरपोर्ट है। कालका-शिमला राजमार्ग से कियारीघाट पहुंच सकते हैं।

यदि आप ट्रेन लेना चाहते हैं, तो कंधाघाट यहां का निकटतम रेलवे स्टेशन है। कियाराघाट कालका-शिमला राजमार्ग के किनारे है, जहां बस सेवा भी अच्छी है।