home page

Paytm बंद हुआ तो दुकानों पर लगे बारकोड चलेंगे या नही? जाने Paytm कैसे निपटेगा इस समस्या से

Paytm, जो भारतीय डिजिटल पेमेंट बाजार (Digital Payment Market) में एक प्रमुख नाम है, वर्तमान में एक बड़ी चुनौती से गुजर रहा है। हाल ही में, इसकी बैंकिंग सेवाओं (Banking Services) पर प्रतिबंध लगने के बाद, कंपनी...
 | 
Paytm UPI platform

Paytm, जो भारतीय डिजिटल पेमेंट बाजार (Digital Payment Market) में एक प्रमुख नाम है, वर्तमान में एक बड़ी चुनौती से गुजर रहा है। हाल ही में, इसकी बैंकिंग सेवाओं (Banking Services) पर प्रतिबंध लगने के बाद, कंपनी अपने यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस (UPI) प्लेटफॉर्म को बिना किसी रुकावट के चालू रखने के लिए थर्ड-पार्टी पेमेंट ऐप्स (Third-Party Payment Apps) का विकल्प तलाश रही है।

UPI संचालन के लिए NPCI से संपर्क

कंपनी ने अपने UPI प्लेटफॉर्म को संचालित रखने के लिए नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) से संपर्क किया है। Paytm Payments Bank (PPBL) जो अभी तक UPI हैंडल @paytm के माध्यम से संचालित होता था, यदि वह 29 फरवरी के बाद अपना बैंकिंग परिचालन बंद कर देता है तो, यह PSP (Payment Service Provider) के रूप में काम नहीं कर पाएगा।

PSP के बिना UPI कनेक्शन की समस्या

Paytm ऐप पर बड़े पैमाने पर यूजर्स द्वारा UPI का इस्तेमाल किया जाता है। लेकिन PSP के बिना UPI कनेक्शन संभव नहीं है। वर्तमान में, कंपनी का किसी भी अन्य कमर्शियल बैंक (Commercial Banks) के साथ कोई संबंध नहीं है, जिससे उसे अपने UPI प्लेटफॉर्म के लिए नए साझेदारों (Partners) की तलाश करनी पड़ रही है।

नए रास्ते की खोज में Paytm

रिपोर्ट के अनुसार, Paytm अपने यूजर्स को दूसरे बैंकों के माध्यम से UPI सेवा प्रदान करने के लिए HDFC Bank, Axis Bank और Yes Bank जैसे बैंकों से बातचीत कर रहा है।

यह कदम, Paytm को एक सामान्य पेमेंट ऐप के रूप में कार्य करने की अनुमति देगा, जैसे कि PhonePe, Google Pay, और Amazon Pay अन्य बैंकों के माध्यम से UPI सेवाएँ प्रदान करते हैं।

Paytm की नई यात्रा की शुरुआत

बैंकिंग सर्विस बंद होने के बाद, Paytm अपने प्लेटफॉर्म पर भुगतान सेवाओं को जारी रखने के लिए एक थर्ड पार्टी ऐप बन जाएगा। यह न केवल Paytm के लिए एक नई चुनौती है बल्कि एक नई शुरुआत भी है, जिसमें कंपनी अपने व्यवसाय मॉडल (Business Model) को नए सिरे से आकार देने की कोशिश कर रही है।

इस बदलाव के साथ, Paytm डिजिटल पेमेंट स्पेस (Digital Payment Space) में अपनी पहुंच और प्रभाव को बनाए रखने का प्रयास करेगा।