home page

पीएम किसान योजना की किस्त नही आई तो परेशान ना हो किसान भाई, अब घर बैठे कर ले ये काम

प्रधानमंत्री किसान सम्मान-निधि (PM Kisan Scheme) या पीएम किसान योजना से जुड़े किसानों के लिए हाल ही में एक सुखद समाचार सामने आया है। यह योजना, जो किसानों को वित्तीय सहायता.....
 | 
Kisan Samman Nidhi has not reached the account

प्रधानमंत्री किसान सम्मान-निधि (PM Kisan Scheme) या पीएम किसान योजना से जुड़े किसानों के लिए हाल ही में एक सुखद समाचार सामने आया है। यह योजना, जो किसानों को वित्तीय सहायता (Financial Assistance) प्रदान करती है, ने कई जीवनों में सकारात्मक बदलाव लाया है।

लेकिन कुछ कारणों से जिन किसानों को इस योजना का लाभ मिलना बंद हो गया था, उनके लिए अब एक नई आशा की किरण दिखाई दे रही है।

अभियान के तहत किसानों को मिलेगी राहत

कृषि एवं किसान कल्‍याण मंत्रालय (Ministry of Agriculture & Farmers Welfare) द्वारा 12 फरवरी से एक विशेष अभियान शुरू किया जा रहा है, जिसका उद्देश्य उन किसानों को राहत प्रदान करना है जिन्हें विभिन्न कारणों से इस योजना के लाभ से वंचित होना पड़ा है।

इस अभियान के दौरान, किसानों को उनकी समस्याओं का समाधान (Problem Solving) प्रदान किया जाएगा और इसे बहुत ही सरल और प्रभावी तरीके से अंजाम दिया जाएगा।

अभियान की रणनीति और क्रियान्वयन

इस विशेष अभियान को 12-21 फरवरी तक चलाया जाएगा, जिसमें राज्य सरकारें (State Governments) और जिला प्रशासन (District Administration) मिलकर काम करेंगे।

चार लाख से अधिक कॉमन सर्विस सेंटर (CSC) के माध्यम से इस अभियान को देशभर में चलाया जाएगा, जिससे किसानों को उनकी समस्याओं का समाधान उनके घर के नजदीकी स्थानों पर ही मिल सके।

समस्याओं का निदान और किसानों का सहयोग

मुख्य रूप से दो प्रकार की समस्याएं हैं जिनके कारण किसानों को इस योजना का लाभ नहीं मिल पा रहा है। पहली समस्या E-KYC (Electronic Know Your Customer) का न होना है और दूसरी समस्या बैंक अकाउंट (Bank Account) और आधार कार्ड (Aadhaar Card) का आपस में लिंक न होना है।

इस अभियान के दौरान, इन समस्याओं का समाधान किया जाएगा, जिससे किसान फिर से इस योजना के तहत अपनी किस्तें प्राप्त कर सकेंगे।

किसानों के लिए आगे की राह

पीएम किसान योजना (PM Kisan Yojana) के तहत अब तक 15 किस्तों (Installments) का लाभ किसानों को मिल चुका है, और अब 16वीं किस्त की प्रतीक्षा है। इस अभियान के सफल क्रियान्वयन से किसानों को न केवल वित्तीय सहायता मिलेगी।

बल्कि उनके आत्मविश्वास में भी वृद्धि होगी। इससे उन्हें अपनी खेती (Agriculture) और कृषि कार्यों (Farming Activities) में और अधिक सकारात्मकता और उत्साह के साथ आगे बढ़ने में मदद मिलेगी।