home page

गर्मी में AC शुरू करने का सोच रहे है तो जान लो 5 जरुरी बातें, नही दिया ध्यान तो AC की कूलिंग हो सकती है कम

गर्मी का मौसम आते ही एयर कंडीशनर की मांग में वृद्धि हो जाती है। होली के त्योहार के समापन के साथ ही गर्मी का प्रकोप शुरू हो जाता है और लोग अपने एयर कंडीशनर्स को चालू करने की तैयारी में लग जाते हैं।
 | 
AC Use in Summer
   

गर्मी का मौसम आते ही एयर कंडीशनर की मांग में वृद्धि हो जाती है। होली के त्योहार के समापन के साथ ही गर्मी का प्रकोप शुरू हो जाता है और लोग अपने एयर कंडीशनर्स को चालू करने की तैयारी में लग जाते हैं। गर्मी के मौसम में एयर कंडीशनर एक अनिवार्य उपकरण बन जाता है। लेकिन इसकी देखभाल और सही रखरखाव भी उतना ही जरूरी है।

समय पर की गई सफाई और मरम्मत से एयर कंडीशनर की जीवनशैली में वृद्धि होती है और यह बेहतर कूलिंग प्रदान करता है। इसलिए गर्मियों के आगमन पर इन जरूरी कार्यों को करवाना चाहिए ताकि आप अपने एयर कंडीशनर का भरपूर आनंद ले सकें।

एयर कंडीशनर की क्लीनिंग

एयर कंडीशनर का इस्तेमाल शुरू करने से पहले उसकी गहन सफाई अत्यंत आवश्यक होती है। लंबे समय तक इस्तेमाल न होने के कारण इसके फिल्टर में धूल और गंदगी जमा हो जाती है, जिससे इसकी कूलिंग क्षमता प्रभावित होती है। इसलिए एयर कंडीशनर की सफाई एक अनिवार्य प्रक्रिया है।

गैस लीकेज की जाँच

एयर कंडीशनर में गैस लीकेज एक सामान्य समस्या है जो कूलिंग को प्रभावित कर सकती है। इसकी जाँच और मरम्मत समय रहते कराना जरूरी होता है। अन्यथा एसी चलाने के बावजूद ठंडक नहीं मिल पाती।

कूलेंट लेवल की जाँच

एयर कंडीशनर की सही कूलिंग के लिए कूलेंट का सही स्तर होना आवश्यक है। यदि कूलेंट का स्तर कम हो जाता है तो कूलिंग प्रभावित होगी। इसलिए कूलेंट के स्तर की नियमित रूप से जाँच और आवश्यकता होने पर उसकी भरपाई करवानी चाहिए।

जेट स्प्रे क्लीनिंग

एयर कंडीशनर की सामान्य सफाई के अलावा जेट स्प्रे क्लीनिंग भी उतनी ही महत्वपूर्ण है। इससे एयर कंडीशनर के सभी हिस्सों की गहराई से सफाई होती है, जिससे इसकी कूलिंग क्षमता बढ़ जाती है।

क्लीनिंग के बाद की प्रक्रिया

एयर कंडीशनर की सफाई के बाद उसे 10 से 15 मिनट के लिए सूखने के लिए छोड़ देना चाहिए। इससे एसी अधिक प्रभावी ढंग से कूलिंग कर पाता है।