home page

इस राज्य में पिछले एक साल 7484 करोड़ की शराब गटक गए लोग, यहां महिलाएं भी है शराब की शौकीन

वित्तीय वर्ष 2023-24 के आंकड़े सामने आते ही दिल्ली सरकार के खजाने में खुशियों की लहर दौड़ गई है। इस वर्ष दिल्ली में शराब की बिक्री में जबरदस्त उछाल देखने को मिला है, जिसके फलस्वरूप दिल्ली सरकार को रिकार्ड...
 | 
LIQUOR SALE IN DELHI
   

वित्तीय वर्ष 2023-24 के आंकड़े सामने आते ही दिल्ली सरकार के खजाने में खुशियों की लहर दौड़ गई है। इस वर्ष दिल्ली में शराब की बिक्री में जबरदस्त उछाल देखने को मिला है, जिसके फलस्वरूप दिल्ली सरकार को रिकार्ड 7,484 करोड़ रुपये की आमदनी हुई है। पिछले वित्तीय वर्ष के मुकाबले यह आंकड़ा कहीं अधिक है, जो सरकार के लिए एक सुखद संकेत है।

आबकारी विभाग की बढ़ी हुई आमदनी

आबकारी विभाग के लिए यह वित्तीय वर्ष बहुत ही लाभकारी साबित हुआ है। एक अप्रैल 2023 से 31 मार्च 2023 तक विभाग को 7,484 करोड़ रुपये का राजस्व प्राप्त हुआ, जो पिछले वर्ष की तुलना में अधिक है। इस बढ़ोतरी का मुख्य कारण शराब पर लगाया गया वैल्यू एडेड टैक्स (वैट) है, जो कि पिछले वर्ष की तुलना में 10 प्रतिशत अधिक है।

शराब की बढ़ती मांग

दिल्ली में शराब की बिक्री में इस वृद्धि के पीछे कई कारण हैं। एक तरफ जहां दिल्ली में हजारों शराब की दुकानें और बीयर बार हैं, वहीं रोजाना इन दुकानों पर शराब खरीदने के लिए भीड़ लगी रहती है। इस बढ़ती हुई मांग ने वित्तीय वर्ष 2023-24 में शराब की बिक्री को नई ऊंचाइयों तक पहुंचाया है।

अन्य राज्यों से आये खरीददार

दिल्ली में शराब पर कम टैक्स के कारण बड़ी संख्या में बाहरी राज्य के लोग विशेषकर उत्तर प्रदेश के निवासी यहां से शराब खरीदने आते हैं। इससे न केवल शराब की बिक्री में वृद्धि हुई है, बल्कि आबकारी विभाग को भी अधिक राजस्व प्राप्त हो रहा है। अधिक मात्रा में शराब खरीदकर अन्य राज्यों में ले जाने पर आबकारी विभाग और पुलिस द्वारा कड़ी कार्रवाई भी की जाती है।