home page

India Longest Train: भारत में इस रूट पर चलती है देश की सबसे लंबी ट्रेन, जिसको खिंचने के लिए पड़ती है 6 इंजन की जरुरत

भारतीय रेलवे की विशालता न सिर्फ इसकी यात्री ट्रेनों में दिखती है बल्कि इसके मालवाहक रेलगाड़ियों में भी इसकी झलक मिलती है। इसके बेड़े में शामिल हैं अनगिनत पैसेंजर और गुड्स ट्रेनें जो देश के कोने-कोने तक सामान पहुंचाने का काम करती हैं।
 | 
india-longest-train
   

भारतीय रेलवे की विशालता न सिर्फ इसकी यात्री ट्रेनों में दिखती है बल्कि इसके मालवाहक रेलगाड़ियों में भी इसकी झलक मिलती है। इसके बेड़े में शामिल हैं अनगिनत पैसेंजर और गुड्स ट्रेनें जो देश के कोने-कोने तक सामान पहुंचाने का काम करती हैं। इनमें से एक है भारत की सबसे लंबी ट्रेन जिसके डिब्बों की संख्या इतनी अधिक है कि गिनते-गिनते आप थक जाएंगे।

दुनिया के चौथे सबसे बड़े रेलवे नेटवर्क का इतिहास

भारतीय रेलवे, जो कि दुनिया का चौथा सबसे बड़ा रेलवे नेटवर्क है, प्रतिदिन लगभग 13,000 ट्रेनों के संचालन के साथ 4 करोड़ यात्रियों को उनकी मंजिल तक पहुंचाता है। यह नेटवर्क न केवल विशाल है, बल्कि इसमें दिलचस्प और अनूठी विशेषताएं भी शामिल हैं, जैसे कि दुनिया का सबसे ऊँचा रेलवे पुल और समुद्र के ऊपर से गुजरने वाली रेलगाड़ियाँ।

भारत की सबसे लंबी ट्रेन

भारत की सबसे लंबी ट्रेन, सुपर वासुकी, की लंबाई करीब 3.5 किलोमीटर है और इसमें 295 डिब्बे लगे हैं। इस विशाल ट्रेन को खींचने के लिए 6 इंजनों की आवश्यकता होती है। इस ट्रेन का एक छोर से दूसरे छोर तक जाने में आपको लगभग एक घंटा लग सकता है। इस ट्रेन की लंबाई और इसके डिब्बों की संख्या निश्चित रूप से आपको हैरान कर देगी।

हमारा Whatsapp ग्रूप जॉइन करें Join Now

कोयले की ढुलाई में सुपर वासुकी की भूमिका

सुपर वासुकी भारतीय रेलवे की एक प्रमुख मालवाहक ट्रेन है, जिसका मुख्य कार्य कोयले की ढुलाई है। यह ट्रेन छत्तीसगढ़ के कोरबा से नागपुर के राजनंदगांव तक करीब 27,000 टन कोयला लेकर जाती है। इसकी विशालता और क्षमता भारतीय रेलवे की माल ढुलाई क्षमता को दर्शाती है।

विशाल और विशेष

सुपर वासुकी का संचालन अपने आप में एक चुनौती है। इसे चलाने के लिए 6 इंजनों की जरूरत पड़ती है, जिसे सामान्यतः पाँच अलग-अलग रेलगाड़ियों के डिब्बों को जोड़कर बनाया जाता है। इस ट्रेन की लंबाई और वजन इसे खींचने में एक घंटे का समय लेता है, जो इसके संचालन की जटिलता को दर्शाता है।