home page

NCR में हाउस टैक्स न भरने वालों के खिलाफ होगी बड़ी कार्रवाई, सीवर से लेकर पानी कनेक्शन तक होंगे कट

गाजियाबाद नगर निगम (Ghaziabad Municipal Corporation) ने हाउस टैक्स (House Tax) बकाया रखने वाले करदाताओं पर कड़ी कार्रवाई का निर्णय लिया है। लंबे समय से टैक्स जमा नहीं करने वालों पर शिकंजा कस...
 | 
House Tax Defaulters (1)

गाजियाबाद नगर निगम (Ghaziabad Municipal Corporation) ने हाउस टैक्स (House Tax) बकाया रखने वाले करदाताओं पर कड़ी कार्रवाई का निर्णय लिया है। लंबे समय से टैक्स जमा नहीं करने वालों पर शिकंजा कसते हुए बड़े बकायेदारों की संपत्ति (Property Sealing) सील की जाएगी।

जबकि छोटे बकायेदारों के सीवर और पानी कनेक्शन (Sewer and Water Connection) काटे जाएंगे। इस व्यापक कार्रवाई के तहत करीब पौने दो लाख करदाताओं को निशाना बनाया गया है, जिन पर 80 लाख रुपये से अधिक का टैक्स बकाया है। 

गाजियाबाद नगर निगम के ये कदम करदाताओं के लिए एक सख्त संदेश (Strict Message) है कि वे समय पर अपने टैक्स का भुगतान करें। इससे न केवल शहर के विकास (Development) में मदद मिलेगी, बल्कि वित्तीय अनुशासन (Financial Discipline) को भी बढ़ावा मिलेगा।

वसूली अभियान की तैयारी

निगम ने हाउस टैक्स वसूली (Tax Collection) के लिए दूसरे चरण में अभियान चलाने की तैयारी शुरू कर दी है। इसके लिए जोनवार बकायेदारों की सूची (List of Defaulters) बनाई जा रही है। टैक्स विभाग बड़े बकायेदारों की संपत्ति सील करने के साथ-साथ, बकाया वसूली के लिए विशेष जोर देगा।

छूट के बावजूद बकाया

मुख्य कर निर्धारण अधिकारी डा. संजीव सिन्हा के अनुसार, एक अप्रैल से 31 जनवरी तक करदाताओं को हाउस टैक्स जमा करने के लिए छूट (Discount) दी गई थी। इस अवधि में 195 करोड़ रुपये का टैक्स वसूला गया, जो पिछले साल के मुकाबले 50 करोड़ रुपये ज्यादा है। फिर भी, पौने दो लाख करदाताओं ने अभी तक टैक्स जमा नहीं किया है।

हाउस टैक्स बढ़ाने की तैयारी

नगर निगम अब सर्किल रेट (Circle Rate) के हिसाब से हाउस टैक्स लगाने की तैयारी कर रहा है। एक अप्रैल से नई दर से हाउस टैक्स के बिल (Tax Bills) जारी होंगे। इस नई व्यवस्था से हाउस टैक्स चार गुना बढ़ (Increase) जाएगा, जिसका कुछ पूर्व पार्षद विरोध (Opposition) कर रहे हैं।