home page

नमो भारत रैपिड ट्रेन से दिल्ली से हरिद्वार का सफर होगा 2 घंटे में पूरा, जाने क्या होगा पूरा रूट और प्लान

अगर आप भी हरिद्वार जाने के लिए 4 घंटे का समय बिताते हैं तो अब आपका सफर का समय और भी कम होने वाला है। जी हां, दरअसल, दिल्ली-मेरठ रैपिड रेल कॉरिडोर को अब और आगे एक्सटेंड करने का प्लान बनाया जा रहा है।
 | 
Rapid Train Highest Speed

अगर आप भी हरिद्वार जाने के लिए 4 घंटे का समय बिताते हैं तो अब आपका सफर का समय और भी कम होने वाला है। जी हां, दरअसल, दिल्ली-मेरठ रैपिड रेल कॉरिडोर को अब और आगे एक्सटेंड करने का प्लान बनाया जा रहा है। इसे मुजफ्फरनगर और हरिद्वार तक लेकर जाने की तैयारी है।

बता दें, ये मामला पिछले दिनों एनसीआर प्लानिंग बोर्ड की मीटिंग में उठाया गया। बैठक में इसकी फिजिबिलिटी रिपोर्ट तैयार करने को कहा गया है, ताकि प्रॉजेक्ट को मुजफ्फरनगर तक ले जाया जा सके। अगर ये प्रोजेक्ट हरिद्वार तक बढ़ जाता है तो आपका सफर का समय 2 घंटे तक कम हो सकता है।

बता दें, इसमें एनसीआरटीसी से ट्रैफिक स्टडी करवाने की बात भी चल रही है। जिससे यह पता चल सके कि इस कॉरिडोर के मुजफ्फरनगर तक बढ़ाए जाने पर कितने यात्रियों को इसका फायदा मिलेगा। इस ट्रैफिक स्टडी की रिपोर्ट आने के बाद इसको बढ़ाने में आगे की कार्रवाई की जाएगी।

कौन देगा फंड?

ट्रैफिक स्टडी के लिए फंड कौन देगा, इस पर अभी विचार विमर्श किया जा रहा है। इसमें एनसीआर प्लानिंग बोर्ड और मुजफ्फरनगर से फंडिंग करवाने की बात चल रही है। अधिकारियों की मानें तो किसी को प्रॉजेक्ट को तभी आगे बढ़ाया जाता है तब ट्रैफिक स्टडी की रिपोर्ट आ जाती है।

जब ज्यादा से ज्यादा यात्रियों को इसके बनाए जाने से फायदा होगा तो प्रॉजेक्ट की डीपीआर समेत अन्य कार्रवाई आगे बढ़ाई जाती है। रैपिड रेल का नेटवर्क अभी गाजियाबाद से जेवर से लिंक किया जा रहा है। अभी साहिबाबाद से दुहाई डिपो के बीच ट्रेन चल रही है। जबकि दुहाई से मोदीनगर के बीच ट्रायल भी शुरू कर दिया गया है। जल्द ही उसका संचालन भी शुरू किए जाने की तैयारी है।

इनको होगा फायदा

गाजियाबाद से हर रोज बड़ी संख्या में लोग मुजफ्फरनगर तक आते-जाते हैं। बहुत से लोग गाजियाबाद से मुजफ्फरनगर तक नौकरी करने आते जाते है। ऐसा ही मुजफ्फरनगर के लोग गाजियाबाद, दिल्ली, नोएडा तक नौकरी करने आते है।

इसके एक्सटेंशन होने से लोगों के समय की काफी बचत होगी। अभी लोगों का गाजियाबाद से मुजफ्फरनगर जाने में 2 घंटे से अधिक का समय लग जाता है। इसके बन जाने से यह समय घटकर 1 घंटे के आसपास हो जाएगा।