home page

New Expressway: दिल्ली और हरियाणा समेत इन 6 राज्यों से होकर गुजरेगा नया एक्सप्रेसवे, इन गांवो की जमीनों की कीमतों में आया उछाल

 | 
expressways-ministry-of-road-transport
   

उत्तरी भारत में आने जाने का चेहरा बदलने जा रहा है। दिल्ली से मुंबई तक के सफर को आसान बनाने वाले दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे के आठ फेज इस साल दिसंबर तक पूरे होने जा रहे हैं। यह भारत का सबसे लंबा एक्सप्रेसवे होगा, जिसकी कुल लंबाई 1,386 किलोमीटर है। इस एक्सप्रेसवे के बनने से दिल्ली, हरियाणा, राजस्थान, मध्य प्रदेश, गुजरात और महाराष्ट्र के निवासियों को यात्रा करने में काफी सहूलियत होगी।

प्रोजेक्ट की प्रगति और चुनौतियां

नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (NHAI) के अनुसार इस प्रोजेक्ट का 80% से अधिक काम पूरा हो चुका है। दिल्ली से वड़ोदरा तक के 845 किलोमीटर सेक्शन का 96% काम पूरा हो चुका है। इस प्रकार की बड़ी परियोजनाओं में आमतौर पर विभिन्न प्रकार की भौगोलिक और प्रशासनिक चुनौतियां आती हैं लेकिन प्रयासों से इस परियोजना को समय सीमा में पूरा किया जा रहा है।

दिसंबर में कौन-कौन से हिस्से होंगे तैयार

इस वर्ष के अंत तक कई महत्वपूर्ण सेक्शन तैयार हो जाएंगे। जैसे कि सपुर से जवाहर लाल नेहरू पोर्ट तक 95 किलोमीटर, सूरत से विरार, मुंबई तक 291 किलोमीटर, और भरूच से सूरत तक 38 किलोमीटर का हिस्सा। इन सेक्शनों के खुलने से इन क्षेत्रों में व्यापार और पर्यटन को नई दिशा मिलेगी और यात्रा समय में काफी कमी आएगी।

हमारा Whatsapp ग्रूप जॉइन करें Join Now

पहले ही खुले एक्सप्रेसवे के भाग

दिल्ली से दौसा और सवाई माधोपुर तक 293 किलोमीटर लंबे सेक्शन और झलावर-रतलाम-एमपी/गुजरात बॉर्डर तक 245 किलोमीटर लंबे सेक्शन पहले ही ट्रैफिक के लिए खोले जा चुके हैं। इन सेक्शनों के खुलने से स्थानीय निवासियों को बहुत राहत मिली है और यात्रा के समय में कमी आई है।