home page

गुरुग्राम-फरीदाबाद के लोगों की हो गई बल्ले-बल्ले, दिल्ली एयरपोर्ट का सफर हो जाएगा पहले से भी ज्यादा आसान

दिल्ली और इसके आस-पास के इलाकों में यातायात की सुगमता के लिए मेट्रो संपर्क को बढ़ाया जा रहा है।
 | 
gurugram-faridabad
   

दिल्ली और इसके आस-पास के इलाकों में यातायात की सुगमता के लिए मेट्रो संपर्क को बढ़ाया जा रहा है। इसी दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम तुगलकाबाद को एक प्रमुख मेट्रो हब के रूप में विकसित करना है। दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (DMRC) ने फेज- 4 के अंतर्गत गोल्डन लाइन के भूमिगत स्टेशन का निर्माण किया है जो मौजूदा वॉयलेट लाइन से जुड़ेगा और यात्रियों के लिए आने जाने को अधिक आसान बनाएगा।

लाखों यात्रियों को मिलेगी सुविधा

इस नई मेट्रो लाइन से दक्षिणी दिल्ली, फरीदाबाद, और गुरुग्राम के निवासियों को IGI एयरपोर्ट तक पहुंचने में बड़ी सहूलियत होगी। तुगलकाबाद, छतरपुर, साकेत G ब्लॉक, और एयरोसिटी में बने नए इंटरचेंज स्टेशनों से यात्री आसानी से अपनी मंजिल तक पहुंच सकेंगे। ये स्टेशन भूमिगत पार्किंग की सुविधा के साथ पहली बार यह सुविधा मिलेगी।

इन लोगों को होगा फायदा

महिपालपुर, वसंत कुंज, छतरपुर, इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय, मैदान गढ़ी, नेबसराय, साकेत, खानपुर, संगम विहार और तुगलकाबाद जैसे क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को इस मेट्रो कॉरिडोर से विशेष लाभ होगा। इससे न केवल समय की बचत होगी बल्कि यात्रियों को कम परिवहन लागत में बेहतर सुविधाएँ मिलेगी।

हमारा Whatsapp ग्रूप जॉइन करें Join Now

नोएडा और दिल्ली के बीच यात्रा सुविधा

नोएडा मेट्रो और दिल्ली मेट्रो एक समान कार्ड प्रणाली को विकसित कर रहे हैं, जिससे यात्रियों को दोनों मेट्रो सिस्टम में आसानी से यात्रा करने की सुविधा मिल सकेगी। इस एकीकृत कार्ड से यात्रा की जटिलता कम होगी और समय की बचत होगी।

समय की बचत

तुगलकाबाद से एयरोसिटी तक के 23.6 किलोमीटर लंबे कॉरिडोर का निर्माण कार्य जारी है जिसे 2025 तक पूरा कर लिया जाएगा। इस कॉरिडोर के पूरा होने पर फरीदाबाद और आस-पास के क्षेत्रों के लोग IGI एयरपोर्ट तक बहुत कम समय में पहुंच सकेंगे, जिससे उनके समय और ऊर्जा की बचत होगी। इस नए मेट्रो कॉरिडोर के चालू होने से डेढ़ घंटे का समय बचेगा, जो कि यात्रियों के लिए एक बड़ी राहत होगी।