home page

पंजाब के स्कूलों में मिड डे मील को लेकर बड़ा अपडेट आया सामने, अब इन चीजों में परोसा जाएगा खाना

पंजाब सरकार ने राज्य के स्कूलों के मिड-डे मील में एक महत्वपूर्ण और स्वागत योग्य परिवर्तन की घोषणा की है। अब सरकारी स्कूलों में एल्युमीनियम के बर्तनों की जगह स्टील या पीतल के बर्तन इस्तेमाल किए जाएंगे।
 | 
Another big decision regarding schools

पंजाब सरकार (Punjab Government) ने राज्य के स्कूलों के मिड-डे मील (Mid-Day Meal) में एक महत्वपूर्ण और स्वागत योग्य परिवर्तन की घोषणा की है। अब सरकारी स्कूलों में एल्युमीनियम के बर्तनों (Aluminum Utensils) की जगह स्टील या पीतल के बर्तन (Steel or Brass Utensils) इस्तेमाल किए जाएंगे।

यह निर्णय न केवल भोजन की गुणवत्ता में सुधार करेगा बल्कि बच्चों के स्वास्थ्य (Children's Health) पर भी सकारात्मक प्रभाव डालेगा। पंजाब सरकार का यह फैसला न केवल मिड-डे मील प्रोग्राम में सुधार की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है।

बल्कि यह बच्चों के स्वास्थ्य (Children's Health) और पोषण (Nutrition) के प्रति सरकार की प्रतिबद्धता को भी दर्शाता है। इस पहल से निश्चित रूप से भविष्य में स्कूली शिक्षा (School Education) और छात्रों के स्वास्थ्य में सकारात्मक परिवर्तन आएगा।

सोशल ऑडिट द्वारा सिफारिश

पंजाब यूनिवर्सिटी (Punjab University) द्वारा किए गए सोशल ऑडिट (Social Audit) में इस बदलाव की सिफारिश की गई है। इस ऑडिट के नतीजों ने सरकार को इस दिशा में कई नए कदम उठाने के लिए प्रेरित किया है, जिससे मिड-डे मील प्रोग्राम की गुणवत्ता (Quality) में सुधार हो सके।

केंद्रीय सहायता की मांग

23 फरवरी को नई दिल्ली में होने वाली बैठक में पंजाब के शिक्षा विभाग (Education Department) और केंद्रीय मानव संसाधन मंत्रालय (Central Ministry of Human Resource Development) के बीच, मिड-डे मील में सुधार और बदलाव के लिए केंद्रीय फंड (Central Fund) की मांग की जाएगी। इससे निश्चित रूप से प्रोजेक्ट को गति मिलेगी और इसके क्रियान्वयन में सहायता मिलेगी।

स्वास्थ्य के लिए सुरक्षित विकल्प

केंद्रीय उद्योग मंत्रालय (Central Industry Ministry) ने भी मानव स्वास्थ्य (Human Health) के लिहाज से एल्युमीनियम के बर्तनों के इस्तेमाल से परहेज करने की सलाह दी है। यह सलाह वैज्ञानिक शोध (Scientific Research) और अध्ययनों पर आधारित है, जो एल्युमीनियम के दीर्घकालिक स्वास्थ्य पर प्रभाव को इंगित करते हैं।

वित्तीय योजना और प्रोजेक्ट

पंजाब सरकार ने इस बदलाव के लिए 175 करोड़ रुपए (175 Crore INR) का एक विशेष प्रोजेक्ट तैयार किया है, जिससे मिड-डे मील के तहत खाना पकाने के बर्तनों की शिफ्टिंग (Shifting) में सहायता मिलेगी। यह प्रोजेक्ट कुल 467 करोड़ रुपए की व्यापक योजना का हिस्सा है, जिससे सरकारी स्कूलों में मिड-डे मील की गुणवत्ता और सुरक्षा में व्यापक सुधार सुनिश्चित होगा।

Punjab Government, Mid-Day Meal, Aluminum Utensils, Steel, Brass, Social Audit, Punjab University, Education Department, Central Ministry of Human Resource Development, Central Fund, Human Health, Scientific Research, Financial Plan, Project, Nutrition, School Education