home page

इन 5 जिलों में आंधी और तूफान के साथ जारी हुआ बारिश का अलर्ट, जाने मौसम विभाग का ताजा अपडेट

उत्तराखंड के पांच पर्वतीय जिलों में इस शनिवार को मौसम में बड़ा बदलाव देखने को मिल सकता है। मौसम विभाग ने उत्तरकाशी, रुद्रप्रयाग, चमोली, बागेश्वर और पिथौरागढ़ जिलों में बारिश के साथ-साथ तेज हवाओं की चेतावनी...
 | 
Uttarakhand weather forecast
   
WhatsApp Group Join Now

उत्तराखंड के पांच पर्वतीय जिलों में इस शनिवार को मौसम में बड़ा बदलाव देखने को मिल सकता है। मौसम विभाग ने उत्तरकाशी, रुद्रप्रयाग, चमोली, बागेश्वर और पिथौरागढ़ जिलों में बारिश के साथ-साथ तेज हवाओं की चेतावनी भी जारी की है। यह मौसमी परिवर्तन जंगलों में लगी आग को नियंत्रित करने में मदद कर सकता है।

जिससे वहां के पारिस्थितिकी तंत्र को कुछ राहत मिलने की उम्मीद है। मौसम में इस प्रकार के बदलाव के दौरान विशेषज्ञों द्वारा उठाए गए कुछ सुरक्षा उपायों का पालन करना चाहिए।

ये भी पढ़िए :- आलू को फ्राई की हुई इस डिश को क्यों बोला जाता है फ्रेंच फ्राइज, जाने किस वजह से पड़ा ये अनोखा नाम

आंधी और बारिश की स्थिति में यह अनुशंसित है कि लोग बाहर निकलने से पहले स्थिति की जांच कर लें, आपातकालीन किट तैयार रखें और अधिक सुरक्षित स्थानों पर शरण लें। इस तरह की सावधानियां जीवन और संपत्ति की रक्षा कर सकती हैं।

आंधी और बारिश का दौर

मौसम विभाग के अनुसार इन जिलों में 40 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलने वाली तेज हवाएं और आकाशीय बिजली की संभावना भी है। इस तरह की चेतावनियाँ वहां के निवासियों और यात्रियों के लिए महत्वपूर्ण होती हैं। जिससे वे अपनी यात्रा और दैनिक गतिविधियों की योजना सावधानीपूर्वक बना सकें।

आने वाले दिनों मे मौसमी पूर्वानुमान

मौसम विभाग के क्षेत्रीय निदेशक बिक्रम सिंह के मुताबिक 5 मई को हरिद्वार और ऊधमसिंह नगर को छोड़कर राज्य के अन्य जिलों में बारिश होने की संभावना है। इसके बाद के दो दिनों में भी बारिश के एक-दो दौर आने की आशंका है और 8 मई के बाद से तो बारिश में और भी तेजी आने की उम्मीद है।

ये भी पढ़िए :- पेट्रोल या डीजल वाली गाड़ी में CNG किट लगवाए तो कितना आता है खर्चा, जाने एक किलो CNG पर कितना मिलता है माइलेज

देहरादून में मौसम का हाल

देहरादून शहर में भी मौसम विभाग ने शनिवार को आंशिक बादल छाए रहने का पूर्वानुमान जारी किया है। लेकिन यहाँ का अधिकतम तापमान 37 डिग्री सेल्सियस तक पहुँच सकता है। इस तापमान में वृद्धि से गर्मी की लहर संभव है। जिससे दैनिक जीवन पर प्रभाव पड़ सकता है।