home page

राजस्थान में सरकारी कर्मचारियों के लिए नया ड्रेस कोड हुआ लागू, जींस और टी शर्ट पहनकर आए तो होगी कार्रवाई

राजस्थान सरकार ने एक अहम निर्णय लेते हुए सरकारी कार्यालयों में ड्रेस कोड लागू करने की पहल की है। इस निर्देश के अनुसार सरकारी कर्मचारियों को अब दफ्तरों में जींस-टी शर्ट पहनकर आने की अनुमति नहीं होगी।
 | 
dress code for Government offices
   

राजस्थान सरकार ने एक अहम निर्णय लेते हुए सरकारी कार्यालयों में ड्रेस कोड लागू करने की पहल की है। इस निर्देश के अनुसार सरकारी कर्मचारियों को अब दफ्तरों में जींस-टी शर्ट पहनकर आने की अनुमति नहीं होगी। इस निर्णय का मुख्य उद्देश्य कार्यालयों में अनुशासन और शिष्टाचार को बढ़ावा देना है।

राजस्थान सरकार द्वारा सरकारी कार्यालयों में ड्रेस कोड लागू करना एक सराहनीय पहल है। यह न केवल कार्यस्थल पर पेशेवरता और अनुशासन को बढ़ावा देगा बल्कि सरकारी कर्मचारियों को भी उनके दैनिक कार्यालयीन जीवन में एक नई दिशा प्रदान करेगा।

ड्रेस कोड की आवश्यकता

सामान्य प्रशासन विभाग की तरफ से जारी किए गए आदेश में स्पष्ट किया गया है कि सभी सरकारी अधिकारियों और कर्मचारियों से गरिमापूर्ण पोशाक के साथ आने की अपेक्षा की जाती है।

इस पहल के पीछे मुख्य विचार यह है कि औपचारिक और सम्मानजनक पोशाक न केवल कार्यस्थल पर व्यक्ति की प्रोफेशनल छवि को बढ़ाती है बल्कि यह सहकर्मियों और जनता के प्रति सम्मान का भी प्रतीक है।

बिजली विभाग में पहले से लागू ड्रेस कोड

राज्य सरकार का यह निर्णय बिजली विभाग में पहले से लागू ड्रेस कोड के बाद आया है। बिजली विभाग ने कर्मचारियों को दफ्तर में जींस और टीशर्ट पहनकर आने पर रोक लगा दी थी। इस पहल का मकसद दफ्तर में एक औपचारिक और पेशेवर वातावरण स्थापित करना था।

ड्रेस कोड के पालन की निगरानी

नए आदेश के अनुसार दफ्तर के सबसे वरिष्ठ अधिकारी को ड्रेस कोड प्रोटोकॉल की निगरानी करने की जिम्मेदारी सौंपी गई है। इसका उद्देश्य सुनिश्चित करना है कि सभी कर्मचारी निर्देशों का पालन करें और कार्यस्थल पर एक उचित पोशाक पहनें।

ड्रेस कोड का महत्व

ड्रेस कोड का पालन न केवल कार्यस्थल की गरिमा को बढ़ाता है बल्कि यह संगठन की छवि को भी प्रभावित करता है। एक उचित और सम्मानजनक पोशाक पहनने से कार्यालय में अनुशासन और शिष्टाचार की भावना बढ़ती है।

यह पहल राजस्थान सरकार की ओर से एक सकारात्मक कदम है, जिससे सरकारी कार्यालयों में एक पेशेवर और गरिमामय वातावरण को बढ़ावा मिलेगा।