home page

Rajasthan Railway Line: राजस्थान के इस जिलें में नई रेल्वे लाइन बिछाने के लिए 200 करोड़ के बजट को मिली मंजूरी, जिलें के लोगों का वर्षों पुराना सपना होने वाला है साकार

राजस्थान के अजमेर मंडल को रेल बजट में नई रेल लाइन बनाने की बड़ी सौगात दी गई है। तीन खंडों में नई रेल लाइन बनाने के लिए 200 करोड़ 3 लाख रुपये का बजट निर्धारित किया गया है।
 | 
Ajmer to kota new rail trak

राजस्थान के अजमेर मंडल को रेल बजट में नई रेल लाइन बनाने की बड़ी सौगात दी गई है। तीन खंडों में नई रेल लाइन बनाने के लिए 200 करोड़ 3 लाख रुपये का बजट निर्धारित किया गया है। टोंक जिले का वर्षों पुराना सपना अब इस बजट में साकार होने वाला है।

रेल बजट के बाद टोंक रेलवे लाइन अजमेर और सवाई माधोपुर से सीधे जुड़ जाएगा। इसमें अजमेर-कोटा, पुष्कर-मेड़ता और अजमेर-सवाई माधोपुर वाया टोंक रेलवे लाइनों को बनाने के लिए बजट भी शामिल है।

नई रेल लाइनों के लिए यह बजट हुआ आवंटित

नवभारत टाइम्स (NBT) राजस्थान के रिपोर्टर मनीष बागड़ी ने अजमेर रेलवे मंडल के जनसंपर्क अधिकारी अशोक चौहान से फोन पर बातचीत की। उसमें उन्होंने बताया कि अजमेर मंडल को तीन भागों में नई रेल लाइन बनाने के लिए दो सौ बीस करोड़ तीन लाख रुपये का बजट दिया गया है।

इसमें अजमेर-मेड़ता के बीच 59 किलोमीटर ट्रैक के लिए 50 करोड़ 1 लाख रुपए, अजमेर-कोटा वाया नसीराबाद, जलन्धरी के बीच 145 किलोमीटर लंबे ट्रैक के लिए 50 करोड़ 1 लाख रुपए और नसीराबाद-सवाई माधोपुर वाया टोंक के बीच 165 किलोमीटर लंबी रेल लाइन के निर्माण के लिए 100 करोड़ 1 लाख रुपए का बजट शामिल है।

टोंक जिले का वर्षों पुराना होगा सपना साकार

रेलवे लाइन अभी भी टोंक से दूर है। पिछले कुछ वर्षों से टोंक को रेलवे लाइन से जोड़े जाने की मांग उठाई जा रही है। टोंक का यह सपना अब पूरा होने जा रहा है, नए रेल बजट की घोषणा के बाद। इससे टोंक भी अजमेर-सवाई माधोपुर रेलवे लाइन में शामिल हो जाएगा।

रेलवे लाइन इसके बाद टोंक को जोड़ेगी। याद रखें कि टोंक को रेलवे लाइन से जोड़ने के लिए वर्षों से प्रयास किए जा रहे हैं। लेकिन राजनीति ने टोंक को रेलवे लाइन से दूर कर दिया।

अजमेर से कोटा के बीच में घटेगी दूरी

अजमेर से कोटा के बीच सीधा रेलमार्ग नहीं है। इसलिए ट्रेन अजमेर से कोटा के बीच वाया चित्तौड़गढ़ होकर चलती है। जिसमें अधिक समय और दूरी लगती है। लेकिन नई रेलवे लाइन के उद्घाटन के बाद अजमेर और कोटा सीधे एक दूसरे से जुड़ जाएंगे। जो नसीराबाद जलन्धरी से वाया निकलेगा। इससे अजमेर और कोटा के बीच समय और दूरी भी कम होगी।

अजमेर-कोटा रेल लाइन में यह हो सकते हैं रेलवे स्टेशन

अजमेर-कोटा नई रेल परियोजना में लोहरवाड़ा, जसवंतपुरा, सराणा, गोयला, सरवाड़, सूरजपुरा, कालेड़ा कृष्णा गोपाल, बाजटा, देवली, लुहारीकलां, गोकुलपुरा, नरवा, मोतीपुरा, जलंधरी सहित 15 स्टेशन शामिल हो सकते हैं। इन स्टेशनों पर यात्रियों को बैठने की जगह मिलेगी।

इस दौरान चौबीस रेलवे स्टेशन बनाए जाएंगे। जनसंपर्क अधिकारी अशोक चौहान ने बताया कि नई रेलवे लाइन में आने वाले कुछ दिनों में कौन-कौन से स्टेशन होंगे। इसके बारे में अधिक जानकारी मिलने के बाद ही कुछ कहा जा सकेगा।