home page

Dhara 144 Haryana: हरियाणा के इस जिलें में प्रशासन ने लगाई धारा 144, सड़कों पर अर्धसैनिक बलों की हुई तैनाती

हरियाणा सरकार (Haryana Government) के कदमों पर किसान मजदूर संघर्ष समिति (Kisan Mazdoor Sangharsh Committee) के महासचिव सरवन सिंह पंधेर की आलोचना के बीच, किसान नेताओं (Farm Leaders) के...
 | 
Haryana Kisan Andolan (1)

हरियाणा सरकार (Haryana Government) के कदमों पर किसान मजदूर संघर्ष समिति (Kisan Mazdoor Sangharsh Committee) के महासचिव सरवन सिंह पंधेर की आलोचना के बीच, किसान नेताओं (Farm Leaders) के खिलाफ पुलिस की कथित छापेमारी और धमकियों की खबरें सामने आई हैं।

इसके साथ ही, पंजाब-हरियाणा सीमा (Punjab-Haryana Border) को अंतरराष्ट्रीय सीमा की तरह सील करने की बात कही गई है, जिससे तनाव में वृद्धि हुई है। हरियाणा में किसान आंदोलन (Farmers' Protest) के मद्देनजर सुरक्षा और शांति को बनाए रखने के लिए व्यापक इंतजाम किए गए हैं। सरकार और किसान संगठनों के बीच चल रही बातचीत के परिणाम स्थिति को और अधिक स्पष्ट करेंगे।

'दिल्ली चलो' मार्च की घोषणा

संयुक्त किसान मोर्चा (United Kisan Morcha) और किसान मजदूर मोर्चा (Kisan Mazdoor Morcha) ने 200 से अधिक किसान संघों के साथ मिलकर फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) की गारंटी के लिए कानून बनाने सहित कई मांगों को मानने के लिए केंद्र पर दबाव डालने के उद्देश्य से 13 फरवरी को 'दिल्ली चलो' मार्च (Delhi Chalo March) की घोषणा की।

सुरक्षा व्यवस्था में बढ़ोतरी

हरियाणा पुलिस (Haryana Police) के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार, राज्य में रैपिड एक्शन फोर्स (Rapid Action Force) और केंद्रीय रिजर्व पुलिस फोर्स (Central Reserve Police Force) सहित केंद्रीय अर्धसैनिक बलों की 50 कंपनियों को तैनात किया गया है, ताकि राज्य में कानून और व्यवस्था (Law and Order) बनाए रखी जा सके।

किसानों और सरकार के बीच वार्ता

केंद्रीय मंत्रियों की तीन सदस्यीय टीम (Central Ministers' Team) ने किसान संगठनों के नेताओं के साथ विस्तृत चर्चा की। बैठक के बाद किसान नेताओं ने कहा कि उन्हें आश्वासन दिया गया है कि जल्द ही दूसरे दौर की बैठक (Meeting) होगी। हालांकि, किसान नेताओं ने स्पष्ट किया कि 13 फरवरी को उनका प्रस्तावित 'दिल्ली चलो' मार्च अभी भी जारी रहेगा।

शांति और सुरक्षा की प्रतिबद्धता

हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज (Anil Vij) ने कहा कि हरियाणा पुलिस ने पुख्ता इंतजाम किए हैं और किसी को भी राज्य में शांति भंग करने की इजाजत नहीं दी जाएगी। डीजीपी कपूर (DGP Kapoor) ने सोशल मीडिया (Social Media) पर अफवाहें नहीं फैलाने की अपील की और कहा कि शांति भंग करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।