home page

UP के इस जिले में बना हुआ है देश का सबसे लंबा रेल्वे प्लेटफॉर्म, इस स्टेशन से रोज गुजरती है 170 ट्रेनें

भारतीय रेलवे की गौरवशाली विरासत में गोरखपुर जंक्शन का नाम एक अनोखी उपलब्धि के रूप में दर्ज है। यह स्टेशन, जो उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में स्थित है, दुनिया का सबसे लंबा रेलवे प्लेटफॉर्म के रूप में विख्यात है।
 | 
Worlds Longest Platform
   

भारतीय रेलवे की गौरवशाली विरासत में गोरखपुर जंक्शन का नाम एक अनोखी उपलब्धि के रूप में दर्ज है। यह स्टेशन, जो उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में स्थित है, दुनिया का सबसे लंबा रेलवे प्लेटफॉर्म के रूप में विख्यात है। इसकी लंबाई 1366.4 मीटर है, जो इसे एक अद्वितीय स्थान प्रदान करती है।

गोरखपुर जंक्शन की यह उपलब्धि न सिर्फ भारतीय रेलवे की शान है बल्कि यह विश्व रेलवे मानचित्र पर भारत की एक महत्वपूर्ण पहचान भी है। इसकी विशालता और ऐतिहासिक महत्व यात्रियों को न केवल आवागमन की सुविधा प्रदान करती है।

बल्कि भारतीय रेलवे की विशालता और विविधता को भी प्रदर्शित करती है। गोरखपुर जंक्शन न केवल एक रेलवे स्टेशन है, बल्कि यह भारतीय रेलवे के गौरव और समृद्धि का प्रतीक है।

विशेषताएँ और उपलब्धियाँ

गोरखपुर जंक्शन की यह विशेषता न केवल स्थानीय लोगों के लिए बल्कि पूरे देश के लिए गर्व का विषय है। अक्टूबर 2013 में पुनर्निर्माण के बाद इसकी लंबाई और बढ़ाई गई, जिससे यह लिम्का बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में अपना स्थान बना पाया।

खड़गपुर का रिकॉर्ड तोड़ते हुए

इससे पहले भारत के ही खड़गपुर में स्थित प्लेटफॉर्म को सबसे लंबा होने का गौरव प्राप्त था, जिसकी लंबाई 1072.5 मीटर थी। गोरखपुर जंक्शन के पुनर्निर्माण के बाद यह रिकॉर्ड उसके नाम हो गया।

दैनिक यातायात और सुविधाएँ

गोरखपुर जंक्शन से प्रतिदिन लगभग 170 ट्रेनें गुजरती हैं, जो इसके महत्व को और बढ़ाती हैं। इस प्लेटफॉर्म की विशालता यह है कि यह 26 डिब्बों वाली दो ट्रेनों को एक साथ संभाल सकता है। यह न केवल यात्रियों के लिए बल्कि रेलवे स्टाफ के लिए भी एक चुनौतीपूर्ण काम है।

ऐतिहासिक पृष्ठभूमि

गोरखपुर रेलवे स्टेशन का निर्माण लगभग 136 साल पहले हुआ था। उस समय यहाँ की वास्तुकला और डिजाइन ब्रिटिश राज के प्रभाव को दर्शाते थे। आज भी इसकी इमारत और सुविधाएँ उस ऐतिहासिक युग की कहानी कहती हैं।