home page

इस नस्ल की गाय अपने पशुपालक को बना देती है मालामाल, रोजाना देती है 70 से लीटर से ज्यादा दूध

आज के समय में जब हर कोई आर्थिक रूप से मजबूत होने की दिशा में काम कर रहा है पशुपालन विशेष रूप से दूध उत्पादन के क्षेत्र में किसानों के लिए एक स्थायी और लाभकारी ऑप्शन के रूप में उभरा है।
 | 
cow-farming-this-breed
   

आज के समय में जब हर कोई आर्थिक रूप से मजबूत होने की दिशा में काम कर रहा है पशुपालन विशेष रूप से दूध उत्पादन के क्षेत्र में किसानों के लिए एक स्थायी और लाभकारी ऑप्शन के रूप में उभरा है। अच्छी नस्ल की गायों का पालन करना न केवल एक परंपरागत प्रथा है बल्कि एक स्मार्ट व्यावसायिक निर्णय भी है। इसके माध्यम से किसान हर महीने अच्छी खासी कमाई कर सकते हैं। इस आर्टिकल में हम विस्तार से जानेंगे कि कैसे गिर गाय की नस्ल पशुपालन के लिए एक अच्छा ऑप्शन है।

गिर गाय

गिर गाय जो कि गुजरात के खास क्षेत्रों में पाई जाती है ने अपने ज्यादा दूध उत्पादन क्षमता के कारण पशुपालन के क्षेत्र में एक विशेष स्थान बना लिया है। यह गाय प्रतिदिन 30 से 80 लीटर तक दूध देने की क्षमता रखती है जो कि इसे व्यवसायिक दूध उत्पादन के लिए एक बढ़िया ऑप्शन है।

गिर गाय की विशेषताएं और पहचान

गिर गाय की कुछ विशेषताएं इसे अन्य नस्लों से अलग करती हैं। इसका बड़ा माथा छोटी और सुंदर आंखें, और कानों के पीछे से निकलकर पीछे की ओर मुड़े हुए सींग इसे एक अनोखी पहचान देते हैं। इन विशेषताओं के कारण गिर गाय को पहचानना आसान होता है।

यह भी पढ़ें; पंजाब की मंडियों में MSP रेट्स पर गेंहु की खरीदारी हुई शुरू, किसानों के लिए बनाए गये है 1900 खरीद केंद्र

गिर गाय के दूध के स्वास्थ्य लाभ

गिर गाय का दूध न केवल मात्रा में अधिक होता है बल्कि गुणवत्ता में भी श्रेष्ठ होता है। इस दूध में पाए जाने वाले पोषक तत्व जैसे कि प्रोटीन, विटामिन, अमीनो एसिड, फैटी एसिड, खनिज, नाइट्रोजन यौगिक, फास्फोरस यौगिक, और शर्करा इसे अत्यंत पोषण से भरपूर बनाते हैं। इसके सेवन से रोग प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि होती है जो इसे स्वास्थ्यवर्धक पेय के रूप में अधिक आकर्षक बनाती है।