home page

इस महीने से शुरू होगा बरेली-सितारगंज हाईवे के चौड़ीकरण का काम, 65 फीसदी जमीन के अधिग्रहण का काम हुआ पूरा

बरेली-सितारगंज हाईवे के लिए 65 प्रतिशत जमीन मिली है। सात दिन में यह आंकड़ा 80% तक पहुंच जाएगा। भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) इसके बाद सेवा शुरू करने के लिए एक अनुबंध करेगा।
 | 
bareilly sitarganj highway

बरेली-सितारगंज हाईवे के लिए 65 प्रतिशत जमीन मिली है। सात दिन में यह आंकड़ा 80% तक पहुंच जाएगा। भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) इसके बाद सेवा शुरू करने के लिए एक अनुबंध करेगा। निर्माण पूरा करने में दो वर्ष का समय लगेगा। पहले चरण में 32 किलोमीटर की सड़क चौड़ी होगी।

काम मार्च से शुरू होगा। हाईवे बनने के बाद यातायात बढ़ेगा। फिलहाल, बरेली से सितारगंज तक 71 किलोमीटर का रास्ता टूलेन (10 मीटर चौड़ा) है। 23 मीटर चौड़ा फोरलेन बनाना होगा। पांच मीटर चौड़ा डिवाइडर बीच में रहेगा। मार्ग का 27.75 किलोमीटर हिस्सा बरेली में, 30.65 किलोमीटर हिस्सा पीलीभीत में और 12.40 किलोमीटर हिस्सा ऊधमसिंहनगर (उत्तराखंड) में है। 

रास्ते में आठ बाइपास प्रस्तावित हैं। बरेली जिले में 20 गांवों के किसानों से जमीन ली जानी है। 80 प्रतिशत अधिग्रहण के बाद मार्ग का निर्माण शुरू होगा, NHAI के प्रोजेक्ट डायरेक्टर बीपी पाठक ने बताया। कार्यदायी संस्था अपना लक्ष्य दो वर्ष में पूरा करेगी।

NHAI के परियोजना निदेशक बीपी पाठक ने कहा कि उत्तराखंड से बेहतर कनेक्टिविटी मिलेगी। नानकमत्ता और नैनीताल जाना आसान होगा। वाहन 100 km/h की गति से चल सकेंगे। NHAI जल्द ही काम करेगा। 

तपेश्वरनाथ मंदिर मार्ग पर टेंडर फिर से गिरा

लोक निर्माण विभाग ने नाथ कॉरिडोर के ग्यारह मार्गों की चौड़ीकरण की प्रक्रिया को तेज कर दिया है। दोनों तरीकों से काम शुरू हो गया है। आठ मार्गों के टेंडरों की जांच जारी है। टेंडर पूरा होने के बाद निर्माण शुरू होगा।

20 फरवरी को तपेश्वरनाथ मंदिर मार्ग की चौड़ीकरण का टेंडर खोला जाएगा। नाथ कॉरिडोर का उद्घाटन और उद्घाटन मुख्यमंत्री कर सकते हैं। इसलिए तेजी से काम करने की तैयारी है। छह करोड़ रुपये की लागत से सुभाषनगर पुलिया से तपेश्वरनाथ मंदिर तक 1.29 किमी का रास्ता चौड़ीकरण किया जाएगा।

पहली बार केवल एक टेंडर आया था। इसलिए टेंडर फिर से निकाले गए। टेंडर फिर से 20 फरवरी को खुलेंगे, जैसा कि अधीक्षण अभियंता अभिनेश कुमार ने बताया।