home page

अमिताभ बच्चन के करियर की सबसे खराब फिल्म जो हुई फ़्लॉप, आधी फिल्म देखते ही जया बच्चन ने छोड़ दिया था थिएटर

बॉलीवुड की दुनिया में 'सदी के महानायक' के रूप में पहचाने जाने वाले अमिताभ बच्चन ने अपने जीवन में अनेकों ऊंचाइयों को छुआ है।
 | 
mrityudaata-is-the-worst-film-of-amitabh-bachchan
   

बॉलीवुड की दुनिया में 'सदी के महानायक' के रूप में पहचाने जाने वाले अमिताभ बच्चन ने अपने जीवन में अनेकों ऊंचाइयों को छुआ है। 'शोले', 'दीवार', और 'जंजीर' जैसी फिल्मों से लेकर 'पीकू' तक उन्होंने हर दौर में अपनी अनोखे प्रतिभा का प्रदर्शन किया है। उनके काम और शैली ने बॉलीवुड को नए आयाम दिए हैं। लेकिन, जीवन की तरह उनके करियर में भी उतार-चढ़ाव आए हैं।

जब बीच स्क्रीनिंग से उठकर चली गईं जया बच्चन

1990 के दशक के मध्य में बिग बी के करियर में एक ऐसा दौर आया, जब उनकी कई फिल्में बॉक्स ऑफिस पर असफल साबित हुईं। इस दौरान, 1997 में आई फिल्म 'मृत्युदाता' की स्क्रीनिंग के दौरान, खुद उनकी पत्नी जया बच्चन ने भी फिल्म देखते हुए बीच में ही उठकर चले जाने का निर्णय लिया। यह घटना उस वक्त की गई उनकी मेहनत के प्रति एक कठिन समीक्षा थी।

एक फिल्म जो बन सकती थी कमबैक

'मृत्युदाता' फिल्म को अमिताभ बच्चन के कमबैक के रूप में देखा जा रहा था। इस फिल्म का निर्देशन मेहुल कुमार ने किया था और इसका निर्माण अमिताभ बच्चन की खुद की कंपनी एबीसीएल ने किया था। लेकिन, दुर्भाग्यवश यह फिल्म बॉक्स ऑफिस पर बुरी तरह विफल रही। इसके परिणामस्वरूप, एबीसीएल कंपनी भी वित्तीय संकट में फंस गई।

उतार-चढ़ाव और बदलाव 

अमिताभ बच्चन के जीवन और करियर की यह कहानी हमें यह सिखाती है कि उतार-चढ़ाव हर किसी के जीवन का हिस्सा हैं। फिर भी, अमिताभ ने कभी हार नहीं मानी। उन्होंने अपने करियर को फिर से पटरी पर लाने के लिए कठिन परिश्रम किया।