home page

भारत में शहीदों के परिवारों मिलती है ये खास सुविधाएं, हर आदमी को जरुर पता होनी चाहिए ये जानकारी

आज भारत दुनिया का सबसे शक्तिशाली देश है। हमारे पास नवीनतम तकनीक वाले हथियार, मिसाइल और सर्वश्रेष्ठ सैनिक हैं। यही कारण है कि तमाम प्रयासों के बावजूद पड़ोसी देश भारत को नुकसान नहीं पहुंचा सकते।
 | 
financial assistance martyr family

आज भारत दुनिया का सबसे शक्तिशाली देश है। हमारे पास नवीनतम तकनीक वाले हथियार, मिसाइल और सर्वश्रेष्ठ सैनिक हैं। यही कारण है कि तमाम प्रयासों के बावजूद पड़ोसी देश भारत को नुकसान नहीं पहुंचा सकते। जवान अक्सर सीमा की रक्षा करते हैं।

शहीद परिवारों का दर्ज कोई चाहकर भी समझ नहीं सकता। सरकार उनके परिवारवालों को वित्तीय सहायता देती है। आइए जानते हैं कि राज्य और केंद्र सरकार की सुविधाएं कौन सी हैं?

हर सभंव मदद की कोशिश करती है सरकार

जम्मू-कश्मीर सरकार भी अपनी जमीन पर शहीद होने वाले किसी भी राज्य के युवा के परिवार को दो लाख रुपये देती है। शहीद की पत्नी को रेल और हवाई यात्रा में किराया दिया जाता है। इसके अलावा परिवार को सैनिक की नौकरी से मिलने वाली ग्रेच्युटी, फंड और छुट्टी का पैसा भी मिलता है।

आर्मी वाइव्स वेलफेयर एसोसिएशन 10 हजार रुपये देता है। पेंशन परिवार को मरने वाले युवा की आखिरी कमाई के बराबर मिलती है। आर्मी सेंट्रल वेलफेयर फंड से ३० हजार रुपये मिलते हैं। केंद्र सरकार शहीद युवा के परिवार को 10 लाख रुपये देती है।

सरकार एलपीजी गैस एजेंसी और पेट्रोल पंपों को आठ प्रतिशत का आरक्षण देती है। परिवार को आर्मी ग्रुप इंश्योरेंस से 25 लाख रुपये मिलते हैं। प्रोफेशनल संस्थानों में भी सीटों पर आरक्षण है।

पीआईबी ने बताया कि एमबीबीएस में शहीद परिवारों के लिए 42 सीटें हैं, जबकि BDS कोर्स में 3 सीटें खाली हैं। शहीदों के बच्चों ही इस सीट पर आते हैं। इसके अलावा, मृतकों के परिवारों के विधवाओं को रेल यात्रा से छूट के लिए कंसेशन कार्ड भी मिलता है।