home page

किसान आंदोलन के चलते 10 दिनों से रद्द हुई ये ट्रेनें हुई शुरू, आम जनता को मिली राहत

हरियाणा और पंजाब के महत्वपूर्ण रेलवे खंड अंबाला-लुधियाना में यातायात एक बार फिर से ठप हो गया है। किसान आंदोलन के कारण इस मार्ग पर पैसेंजर ट्रेनों का संचालन पूरी तरह रुक गया है और लंबी दूरी की ट्रेनें भी देरी से चल रही हैं।
 | 
two-passenger-trains
   
WhatsApp Group Join Now

हरियाणा और पंजाब के महत्वपूर्ण रेलवे खंड अंबाला-लुधियाना में यातायात एक बार फिर से ठप हो गया है। किसान आंदोलन के कारण इस मार्ग पर पैसेंजर ट्रेनों का संचालन पूरी तरह रुक गया है और लंबी दूरी की ट्रेनें भी देरी से चल रही हैं। इससे न केवल दैनिक यात्री प्रभावित हो रहे हैं बल्कि व्यापारिक गतिविधियां भी बाधित हो रही हैं।

राहत भरी खबर

किसान आंदोलन के कारण दस दिनों तक रद्द रहने के बाद अंबाला और हरिद्वार के बीच दो पैसेंजर ट्रेनों (ट्रेन नंबर 04501 और 04502) का संचालन फिर से शुरू किया गया है। यह निर्णय दैनिक यात्रियों, नौकरीपेशा व्यक्तियों और छात्रों की सुविधा के लिए लिया गया है। रेलवे प्रशासन ने इस सम्बन्ध में विशेष व्यवस्थाएं भी की हैं ताकि ट्रेन सेवाएं नियमित रूप से बहाल रह सकें।

यह भी पढ़ें; इस SUV गाड़ी के बेस मॉडल ने ही ऑटो मार्केट में मचाया धमाल, 6 एयरबैग और ADAS के साथ मिल रहे है ये तगड़े फिचर्स

ट्रेन संचालन पर आंदोलन का असर 

शंभू रेलवे स्टेशन के पास ट्रैक पर बैठे किसानों के कारण 72 ट्रेनों को रद्द करना पड़ा 122 ट्रेनों का मार्ग बदलना पड़ा और सात ट्रेनों को बीच रास्ते से ही वापस कर दिया गया। किसान आंदोलन के दसवें दिन तक कुल 1865 मेल, एक्सप्रेस और पैसेंजर ट्रेनों का संचालन प्रभावित हुआ जिसमें से 825 ट्रेनें रद्द की गईं और 879 ट्रेनों को बदले मार्ग से चलाया गया।